Tuesday, Oct 26, 2021
-->
worshiped-in-the-temples-of-the-fear-free-mother-kalratri

भयमुक्त करने वाली मां कालरात्रि की हुई मंदिरों में पूजा-अर्चना

  • Updated on 10/12/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। शारदीय नवरात्रि के छठवें दिन राजधानी के सभी मंदिरों में भयमुक्त करने वाली मां कालरात्रि की पूजा-अर्चना विधि-विधान द्वारा की गई। मां के इस स्वरूप को प्रेतादि बाधा से मुक्ति देने व श्रद्धालुओं को शुभ फल देने माना जाता है। मां दुर्गा के सातवें रूप का श्रृंगार विधिवत किया गया। इस दौरान कालकाजी मंदिर, छतरपुर मंदिर व झंडेवालान मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या काफी बढ गई और दूर-दूर तक लंबी कतारें देखने को मिलीं।
मां कात्यायनी की पूजा-अर्चना कर लोगों ने मांगी दुआएं
 

झंडेवाला मंदिर में होगा अष्टमी को जागरण
वहीं भीड अधिक होने की वजह से झंडेवालान मंदिर में व्यवस्था को ओर अधिक चुस्त दुरूस्त किया गया। मंदिर के सचिव कुलभूषण आहुजा ने बताया कि मंदिर परिसर की सफाई सप्तमी के दिन चुनौतीपूर्ण बन गई क्योंकि दर्शनार्थियों की भीड अधिक थी। बावजूद इसके पूरी तरह मंदिर परिसर की स्वच्छता का ध्यान रखा गया, जिसके लिए सफाईकर्मियों का यह कार्य काफी सराहनीय है। वहीं मुख्य भवन के प्रांगण में मां भगवती का गुणगान अजय यागनिक व उनकी पार्टी के कलाकारों सहित कई महिला कीर्तन मंडलियों ने किया। अष्टमी जागरण ज्योत प्रचंड बुधवार रात 9 बजे की जाएगी, जिसका सीधा प्रसारण झंडेवाला देवी मंदिर यूट्यूब चैनल पर किया जाएगा। जागरण मंदिर के प्रांगण में ही आयोजित किया जा रहा है
बच्चों की रक्षा के लिए भक्तों ने मांगा मां स्कंदमाता से वरदान
 

आज होगी मां के अष्टम रूप महागौरी की पूजा
नवरात्रि की अष्टमी जिसे दुर्गाष्टमी भी कहा जाता है, उस दिन मां के आठवें स्वरूप मां महागौरी का पूजन किया जाता है। महागौरी के पूजन का विशेष महत्व है, पौराणिक कथाओं के अनुसार इनकी उपासना से भक्तों के सभी पाप नष्ट हो जाते हैं और पाप-संताप जीवन में कभी नहीं आते। भक्त अक्षय पुण्यों का अधिकारी हो जाता है। मां की मुद्रा वरमुद्रा होती है जोकि वृषभ वाहन पर सवारी करती हैं। इन्हीं महागौरी यानि पार्वती ने शिव को पति के रूप में प्राप्त करने के लिए कठोर तपस्या की थी। मां को चुनरी भेंट करने से वो काफी प्रसन्न होती हैं। वहीं कुछ लोग मां को प्रसन्न करने के लिए इस दिन कन्या पूजन करते हैं।
मां चंद्रघंटा व कुष्मांडा की हुई दिल्ली के मंदिरों में विधि-विधान से पूजा

कन्या पूजन के लिए सजे बाजार, महिलाओं ने की खरीदारी
आज अष्टमी और कल नवमी है, जिसके चलते सप्तमी के दिन राजधानी के बाजार काफी सजे हुए दिखाई दिए और महिलाओं ने कन्या पूजन के लिए जमकर खरीदारी की। इस बार महिलाओं ने चुनरी के साथ ही कोरोना के चलते पके हुए खाने से कन्या पूजन की बजाए गिफ्ट आईटम देने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाई। वहीं कईं कंपनियां छोटी कन्याओं को लुभाने वाले कार्टून करेक्टर के ज्यूमेटरी बॉक्स, लंच बॉक्स मार्केट में लेकर आएं हैं। वहीं कई तरह के छोटे-छोटे पैकेट वाले खाने-पीने के पैक्ड गिफ्ट पैक भी बनाए गए हैं, जिनकी कीमत 40 रूपए से लेकर 400 रूपए तक बाजारों में रही। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.