Saturday, Jun 23, 2018

AAP को मिला पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा का साथ, बोले- वाजपेयी होते तो सुलझ जाती समस्या

  • Updated on 6/13/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में राजनीतिक गतिरोध जारी है। केजरीवाल अपने कुछ साथियों के साथ धरने पर अड़े हुए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी सोमवार की शाम से उपराज्यपाल कार्यालय में धरने पर बैठे हुए हैं। आईएएस अधिकारियों के संबंध में दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच रस्साकसी जारी है। हजारों आप नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस संबंध में उपराज्यपाल कार्यालय तक मार्च किया।

भाजपा से हाल में इस्तीफा देने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा भी आप नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मुख्यमंत्री के सिविल लाइन्स स्थित आवास पर मौजूद थे, जहां से उपराज्यपाल कार्यालय की ओर विरोध मार्च निकाला गया।

प्रतिभा पाटिल और प्रणब मुखर्जी राहुल की इफ्तार पार्टी में हुए शरीक

आप कार्यकर्ताओं  और नेताओं को संबोधित करते हुए सिन्हा ने इस संघर्ष में केजरीवाल और आप के प्रति एकजुटता जाहिर की। उन्होने कहा कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी इस समय प्रधानमंत्री होते तो गृह मंत्रालय को इस संकट का समाधान निकालने का निर्देश देते लेकिन मौजूदा सरकार सो रही है। उन्होंने कहा कि पूरा देश दिल्ली की स्थिति को लेकर चिंतित है।

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, ‘दिल्ली के संकट का समाधान जितनी जल्दी हो जाए, देश के लिए वह उतना ही बेहतर रहेगा।’
आप सरकार उपराज्यपाल से आईएएस अधिकारियों को हड़ताल खत्म करने का निर्देश देने और चार महीने से हड़ताल कर रहे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रही है।

जम्मू: साल 2018 में अंतरराष्ट्रीय रेखा के पास सबसे अधिक BSF जवान शहीद

विरोध मार्च के दौरान पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उपराज्यपाल के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने कहा 'एलजी साहब, दिल्ली छोड़ो।'इस मार्च को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के उचित इंतजाम किये थे।

राज्यसभा सदस्य और आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि अगर आईएएस अधिकारी अपनी हड़ताल खत्म करने और काम शुरू करने का आश्वासन देते हैं तो आप, मुख्यमंत्री और उनके सहयोगियों से धरना समाप्त करने की अपील करेगी,

उन्होंने कहा कि पार्टी गुरुवार को कैंडल मार्च निकालेगी। उन्होंने कहा कि अगर यह मामला रविवार तक नहीं सुलझा तो आप नेता और कार्यकर्ता प्रधानमंत्री कार्यालय पर धरना देंगे।आईएएस अधिकारियों के संघ ने कहा कि कोई भी अधिकारी हड़ताल पर नहीं है और दिल्ली सरकार का कोई काम प्रभावित नहीं हो रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.