Thursday, Dec 08, 2022
-->
yashwant-sinha-rashtra-manch-demands-restoration-of-statehood-of-jammu-and-kashmir-rkdsnt

यशवंत सिन्हा के राष्ट्र मंच ने की जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग 

  • Updated on 8/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा द्वारा गठित राजनीतिक कार्य समूह राष्ट्र मंच ने बुधवार को मांग की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में यह घोषणा करनी चाहिए कि साल के अंत तक जम्मू कश्मीर के लिए पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा।  

तत्काल सुनवाई के मामलों में वरिष्ठ वकीलों को प्राथमिकता नहीं देने के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट

  मंच ने एक बयान में कहा कि वह पांच अगस्त 2019 को केंद्र सरकार की ‘‘सवालिया घेरे में आयी कार्रवाई’’ के बाद स्थिति को लेकर काफी ङ्क्षचतित है। केंद्र ने पांच अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त कर दिया था और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित कर दिया था।   

कानून निर्माताओं के खिलाफ दर्ज केस हाई कोर्ट की इजाजत के बिना वापस नहीं ले सकते: सुप्रीम कोर्ट

  राष्ट्रीय मंच ने कहा, ‘‘इन कार्यों, और उनके द्वारा उठाए गए अलोकतांत्रिक कदमों से जम्मू-कश्मीर के लोगों के मन में गहरी चोट, अपमान और विश्वासघात की भावना पैदा हुई है।’’  राष्ट्रीय मंच के संयोजक शाहिद सिद्दीकी और सुधींद्र कुलकर्णी हैं। संगठन ने दावा किया कि लाखों युवाओं का रोजगार छिन गया है और युवाओं के बीच आत्महत्या की घटनाओं में चिंताजनक वृद्धि हुई है।     

पंजाब में उद्योगपतियों की इकाई ने गठित की नई राजनीतिक पार्टी, चढूनी होंगे CM उम्मीदवार 

राष्ट्र मंच ने यह भी आरोप लगाया कि सरकार द्वारा अपने कठोर कार्यों को सही ठहराने के लिए दिए गए सभी तर्क और‘नया जम्मू कश्मीर’बनाने के सभी वादे ‘खोखले’ साबित हुए हैं। मंच ने मांग की कि प्रधानमंत्री को स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में घोषणा करनी चाहिए कि 2021 के अंत से पहले जम्मू कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा।   

प्रशांत भूषण ने CJI से पेगासस मामले में सुनवाई का सीधा प्रसारण करने का किया अनुरोध

  मंच ने यह भी मांग की है कि प्रधानमंत्री को अपने भाषण में यह घोषणा करनी चाहिए कि पूर्ण राज्य की बहाली के तुरंत बाद स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव होंगे तथा जम्मू कश्मीर में परिसीमन कवायद को स्थगित कर दिया जाएगा, और भारत के अन्य राज्यों के साथ इस कवायद को अंजाम दिया जाए।     भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व नेता सिन्हा ने 2018 में राजनीतिक कार्य समूह-राष्ट्र मंच शुरू किया था। इसके तहत केंद्र से मुकाबला करने के लिए विभिन्न दलों के नेताओं को एक साथ लाने का प्रयास किया गया।      

यूपी जेल में बंद सपा नेता आजम खान, उनके बेटे को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत

comments

.
.
.
.
.