Thursday, Feb 02, 2023
-->
yechury-asks-how-to-say-that-hindus-are-not-violent

येचुरी ने कहा, कैसे कहें हिंदू हिंसक नहीं होते- रामायण का दिया उदाहरण

  • Updated on 5/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एक तरफ जहां लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) का पांचवा चरण (Fifth Phase) शुरु होने वाला है, वहीं ऐसे में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। इसके लिए चुनाव आयोग कई नेताओं पर एक्शन भी ले चुका है, लेकिन फिर भी कई नेता इससे सबक नहीं ले रहे। हाल ही में ऐसा ही एक बयान कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (एम) के नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury)  ने दिया है।

करा रहे सालों से चुनाव, अफसरों को भी देते हैं टिप्स!

दरअसल, सीपीआई (CPI) के नेता सीताराम येचुरी ने हिंदुओं पर निशाना साधते हुए सवाल किया है कि क्या हिंदू हिंसक नहीं है का दावा सही है? येचुरी ने रामायण (Ramayan) और महाभारत (Mahabharat) का हवाला देते हुए कहा, ‘रामायण और महाभारत भी लड़ाई और हिंसा से भरी हुई थीं, लेकिन एक प्रचारक के तौर आप सिर्फ महाकाव्य के तौर पर उसे बताते हैं, उसके बाद भी दावा करते हैं कि हिंदू हिंसक नहीं है।’

शीला ने साधा BJP पर निशाना, कहा- कोई भी व्यक्ति देश और समाज से बड़ा नहीं हो सकता

सीताराम येचुरी ने आगे कहा कि ऐसे में किसी एक धर्म को हिंसा से जोड़ने का क्या तर्क और हम हिंदुओं को नहीं। बता दें कि इससे पहले भी हिंदू और हिंदुत्व पर नेता बयानबाजी करते आए हैं। अभी थोड़े दिन पहले बसुपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने देवबंद में रैली के दौरान मुस्लिम वोटरों से अली के नाम पर वोट देने के लिए अपील की थी। जिसका जबाव देते हुए योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने हिंदू वोटर्स से बजरंगबली के नाम पर वोट देने की अपील की थी। जिसक बाद चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस तक भेज दिया था और उनपर 2, 3 दिन के लिए चुनाव प्रचार पर बैन लगा दिया गया था।

लोकसभा चुनाव को ना समझे अपनी फिल्मों की शूटिंग

हिंदू आतंकवाद मुद्दे पर हुई थी बहस

इससे पहले जब बीजेपी ने मालेगांव ब्लास्ट (Malegaon Blast) में आरोपी साध्वी प्रज्ञा (Sadhvi Pragya) को भोपाल लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार घोषित किया था, तब भी काफी विवाद हुआ था। उस समय हिंदू आतंकवाद की थ्योरी पर जमकर चर्चा हुई। जिससे देश दो गुटों में बंट गया था। पीएम मोदी और अमित शाह ने कांग्रेस पर इसको लेकर आरोप भी लगाया था कि कांग्रेस हिंदू आतंकवाद के नाम पर हिंदुओं को बदनाम करती रही है, और उसी का जबाव देने के लिए उन्होंने साध्वी प्रज्ञा को दिग्विजय सिंह के खिलाफ उतारा है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.