Sunday, Apr 18, 2021
-->
yechury cpim says mamata may join hands with nda in event of hung assembly in bengal rkdsnt

बंगाल में त्रिशंकु विधानसभा होने की स्थिति में ममता राजग से मिला सकती है हाथ: येचुरी

  • Updated on 2/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी ने रविवार को कहा कि आरएसएस-भाजपा की सांप्रदायिक गतिविधि को रोकने के लिए यह जरूरी है कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में पहले तृणमूल कांग्रेस को हराया जाए। उन्होंने दावा किया कि राज्य में त्रिशंकु विधानसभा होने की स्थिति में ममता बनर्जी नीत पार्टी सरकार बनाने के लिए फिर से राजग में शामिल हो सकती है। तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच जारी राजनीतिक खींचतान को नूराकुश्ती बताते हुए येचुरी ने आरोप लगाया कि भगवा पार्टी कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए बनाये गये ‘पीएम केयर्स’ फंड का इस्तेमाल चुनावों के दौरान नेताओं को ‘‘खरीदने’’ में कर रही है। 

राहुल गांधी बोले- भाजपा के शासन में बढ़ी अमीरी-गरीबी की खाई

उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में सिंघू बॉर्डर पर किसान (नरेन्द्र) मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। अगर किसान, जो हमें भोजन मुहैया कराते हैं, ऐसी वीरतापूर्ण लड़ाई लड़ सकते हैं, तो हम भी यहां ऐसा कर सकते हैं।’’ येचुरी ने पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले यहां ब्रिगेड परेड ग्राउंड में माकपा और कांग्रेस की एक संयुक्त रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘वामपंथी और धर्मनिरपेक्ष ताकतों का यह महागठबंधन राज्य में भ्रष्ट तृणमूल कांग्रेस सरकार और भाजपा को हराने और बेहतर बंगाल के लिए लड़ेगा।’’ वंशवाद की राजनीति के मुद्दे पर कई अन्य राजनीतिक दलों, खासकर कांग्रेस पर हमला करने को लेकर भाजपा की आलोचना करते हुए येचुरी ने हैरानी जताते हुए कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह का बेटा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का सचिव कैसे बन गया। 

शिवसेना ने लोकसभा सांसद मोहन डेलकर की मौत पर चुप्पी को लेकर उठाए सवाल

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा, भ्रष्टाचार और वंशवाद की राजनीति की बात करती है। एक स्टेडियम नरेन्द्र मोदी के नाम पर है। अमित शाह के बेटे क्रिकेट संघ (बीसीसीआई) में एक पदाधिकारी हैं।’’ माकपा नेता ने आरोप लगाया कि राज्य में ममता बनर्जी प्रशासन युवाओं के साथ वही कर रहा है, जो केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार किसानों के खिलाफ कर रही है। उन्होंने कहा, ‘‘कई लोग मुझसे पूछते हैं कि त्रिशंकु विधानसभा होने की स्थिति में हम क्या करेंगे। मैं उनसे कहता हूं कि वे यह सवाल सीधे तृणमूल कांग्रेस से करें क्योंकि वे इसका जवाब देने के लिए सबसे अच्छी स्थिति में हैं।’’ 

ममता ने पूछा- क्या चुनाव तारीखें मोदी, शाह के सुझावों के मुताबिक घोषित की गईं?

उन्होंने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस 1998 से (कई वर्षों तक) राजग का हिस्सा रही है। वह (केन्द्र में) राजग सरकार का हिस्सा रही है। (चुनाव के बाद) त्रिशंकु विधानसभा होने की स्थिति में मुझे पूरा विश्वास है कि तृणमूल कांग्रेस राज्य में सरकार बनाने के लिए भाजपा से हाथ मिला लेगी।’’ येचुरी ने कहा, ‘‘बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा को हराने के लिए सभी धर्मनिरपेक्ष ताकतों को एक साथ आना होगा।’’ उन्होंने दावा किया कि भाजपा और तृणमूल कांग्रेस धर्म का इस्तेमाल देश और राज्य के लोगों की समस्याओं से ध्यान हटाने के लिए कर रहे हैं। 

वाम दलों को केरल में सत्ता में बने रहने की उम्मीद
केरल में सत्ता बरकरार रखने और पश्चिम बंगाल में अपनी राजनीतिक प्रासंगिकता बहाल करने के प्रति आशान्वित वामदलों का राजनीतिक भविष्य इन अहम राज्यों में गठबंधन साझेदारों पर निर्भर करता है। दोनों ही राज्यों में कांग्रेस वाम दलों की संभावना को प्रभावित कर सकती है। केरल में कांगेस माकपा नीत वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) की प्रतिद्वंद्वी है, जबकि पश्चिम बंगाल में उसकी सहयोगी है। 

केरल में कांग्रेस प्रभारी अनवर बोले- श्रीधरन का भाजपा में शामिल होना सिर्फ सियासी ‘‘हथकंडा’’

असम और तमिलनाडु समेत चार राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, लेकिन पश्चिम बंगाल में आठ चरण में हो रहे चुनाव पर सभी की नजर हेागी। वहां वाम दलों ने एक बार फिर कांग्रेस के साथ गठजोड़ करने का फैसला किया है, जबकि 2016 के विधानसभा चुनाव में यह प्रयोग विफल रहा था। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, ‘‘ यह अहम चुनाव है। हमारा उद्देश्य भाजपा को (सत्ता से)दूर रखना है। बंगाल में तृणमूल कांग्रेस सरकार के दमन का सामना कर रहे लोगों के संघर्ष की ताकत के जरिए एक विकल्प उभरकर सामने आ रहा है और वह वामदलों एवं कांग्रेस के बीच का लोकतांत्रिक गठबंधन है।’’  

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

  •  
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.