Tuesday, Oct 19, 2021
-->
yeddyurappa to be karnataka cm for forth time, swearing in for a while

येदियुरप्पा ने ली सीएम पद की शपथ, 29 को होगी अग्नि परीक्षा

  • Updated on 7/26/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक में एच डी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार गिरने के दो दिन बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शुक्रवार शाम को शपथ ले ली है। और  उनकी सरकार का फ्लोर टेस्ट 31 जुलाई को होगा। तेजी से घटे घटनाक्रम में येदियुरप्पा ने सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की और शुक्रवार को ही उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाने का उनसे अनुरोध किया था। इसके बाद राज्यपाल ने उन्हें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था।
 


मायावती ने की आजम के बयान की कड़ी निंदा, कहा- सभी महिलाओं से मांगें माफी

येदियुरप्पा ने यहां राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात के बाद पत्रकारों से कहा, ‘मैंने राज्यपाल से मुझे शाम छह बजे से सवा छह बजे के बीच मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने का अनुरोध किया है। राज्यपाल इस पर सहमत हो गए और मुझे एक पत्र दिया।’ उन्होंने कहा, ‘मंत्रिमंडल में किसे शामिल किया जाएगा, इस बारे में मैं हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष से चर्चा करूंगा और सूचना दूंगा।’

उन्होंने कहा कि चूंकि वह अभी विपक्ष के नेता हैं, इसलिए उन्हें नेता चुनने के लिए विधायक दल की बैठक बुलाने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री के तौर पर यह येदियुरप्पा का चौथा कार्यकाल होगा। गौरतलब है कि मई 2018 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के महज तीन दिन बाद उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था। दरअसल, वह बहुमत हासिल करने में नाकाम रहे थे। उन्होंने इस आधार पर सरकार बनाने का दावा किया था कि उनकी पार्टी 225 सदस्यीय विधानसभा में 104 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है।

वित्तीय धोखाधड़ी: जस्टिस आशु गर्ग की कोर्ट से आकाश जिंदल को मिली राहत

येदियुरप्पा ने शपथ ग्रहण समारोह के लिए सभी राजनीतिक दलों के विधायकों को आमंत्रित करते हुए कहा कि वह निवर्तमान मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी और कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्दरमैया को भी निमंत्रण पत्र भेजेंगे।          उन्होंने कहा, ‘मैं कुमारस्वामी और सिद्दरमैया को व्यक्तिगत तौर पर आमंत्रित करने के लिए उनसे फोन पर संपर्क करने की कोशिश करूंगा।’

येदियुरप्पा के सरकार बनाने का दावा पेश करने से एक दिन पहले विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार ने कांग्रेस के तीन बागी विधायकों को सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित कर दिया, जबकि शेष 14 विधायकों पर उनका फैसला फिलहाल लंबित है। प्रदेश भाजपा नेतृत्व सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के ‘‘निर्देशों’’ का इंतजार कर रहा था।

KGF चैप्टर 2' का पहला पोस्टर Out, क्या इस बार 'अधीरा' के रोल में नजर आएंगे संजू बाबा?

जगदीश शेट्टार, अरविंद लिम्बावली, जे सी मधुस्वामी, बासवराज बोम्मई और येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र समेत कर्नाटक भाजपा नेताओं के एक समूह ने बृहस्पतिवार को नयी दिल्ली में पार्टी प्रमुख अमित शाह से मुलाकात की थी और सरकार गठन पर चर्चा की। राज्यपाल को दिए अपने पत्र में येदियुरप्पा ने कहा कि कुमारस्वामी सरकार विधानसभा में विश्वास मत हार चुकी है और मुख्यमंत्री ने इस्तीफा दे दिया है तथा उन्हें (कुमारस्वामी को) वैकल्पिक व्यवस्था होने तक पद पर बने रहने के लिए कहा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.