Friday, Aug 19, 2022
-->
yediyurappa said i will take proper decision on possibility being removed from cm post rkdsnt

CM पद से हटाए जाने की संभावना पर येदियुरप्पा BJP आलाकमान के निर्देश के बाद ही लेंगे उचित फैसला

  • Updated on 7/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने खुद को पद से हटाए जाने की संभावना पर रविवार को कहा कि आज शाम भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आलाकमान से निर्देश मिलने के बाद वह उचित निर्णय लेंगे। दिल्ली से पार्टी आलाकमान से आज शाम तक निर्देश प्राप्त हो जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, च्च्शाम तक अगर निर्देश मिलेंगे तो आपको भी इसके बारे में पता चल जाएगा, एक बार निर्देश मिल जाने पर मैं उचित निर्णय लूंगा।’’ 

किसान संगठनों का आंदोलन: सरकार ने कहा किसानों की मौत का उसके पास कोई रिकॉर्ड नहीं

बेंगलुरु में रविवार को हो रहे संत समागम के बारे में पूछे जाने पर येदियुरप्पा ने कहा, 'संतों को किसी तरह की बैठक करने की जरूरत नहीं है, मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा पर भरोसा है।’’ उल्लेखनीय है कि संत समागम के आयोजन को येदियुरप्पा के साथ एकजुटता प्रर्दिशत करने के तौर पर देखा जा रहा है। उनके स्थान पर दलित मुख्यमंत्री लाए जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, च्च्मैं इसके बारे में फैसला नहीं ले सकता हूं, यह फैसला आलाकमान करेगा। पहले यह देखना होगा कि वे आज क्या फैसला लेते हैं।’’ 

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर के खिलाफ रंगदारी मांगने के आरोप में FIR

यह पूछने पर कि क्या वह अपने दो वर्षों के काम से संतुष्ट हैं, उन्होंने कहा, च्च्अगर आप संतुष्ट हैं तो मेरे लिए यह काफी है।’’ यह संकेत देते हुए कि सोमवार रात मुख्यमंत्री के पद पर उनका आखिरी दिन होगा, येदियुरप्पा ने हाल में कहा था कि केंद्रीय नेताओं द्वारा 25 जुलाई को निर्देश मिलने के आधार पर वह 26 जुलाई से च्च्अपना काम’’ शुरू करेंगे। उनकी सरकार 26 जुलाई को अपने दो साल पूरे करेगी। 

पेंशन नियमों में बदलाव का मोदी सरकार ने किया बचाव

इस बीच, रविवार को यहां हो रहे विशाल संत समागम में कई संतों के भाग लेने की उम्मीद है, जो येदियुरप्पा को पद से हटाए जाने के भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के संभावित निर्णय के बीच हो रहा है। येदियुरप्पा बाढ़ एवं बारिश से प्रभावित बेलागावी जिले में राहत एवं बचाव अभियान की समीक्षा करने के लिए यहां हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह बारिश और बाढ़ से प्रभावित लोगों से मुलाकात करने और कुछ प्रभावित गांवों का दौरा करने तथा वहां की स्थिति का विश्लेषण करने के बाद बेंगलुरु वापस जाएंगे।

फिर आप उन लोगों को किसान बोल रहे हैं...मवाली हैं वे लोग: मीनाक्षी लेखी

 

 

 


 

comments

.
.
.
.
.