Monday, Oct 25, 2021
-->
yoga with ayurveda is effective to fight corona virus pragnt

कोरोना से लड़ने के लिए असरदार है आयुर्वेद संग योगा, ठीक हुए सैकड़ों मरीज

  • Updated on 6/20/2020

नई दिल्ली/अनामिका सिंह। कोरोना वायरस (Coronavirus) का आयुर्वेदिक पद्धति से जहां हमारे डॉक्टर इलाज कर शारीरिक रूप से लोगों को स्वस्थ्य बनाने का काम कर रहे हैं। वहीं एकांतवास के चलते अवसाद से भरे लोगों को मानसिक रूप से स्वस्थ्य बनाने के लिए योग का प्रयोग किया जा रहा है जोकि बेहद सफल हो रहा है। उक्त बातें नवोदय टाइम्स के साथ विशेष बातचीत के दौरान एशिया के सबसे बड़े आयुर्वेदिक अस्पताल चौधरी ब्रहमप्रकाश की निदेशक प्रो‐ विदुला गुज्जरवार ने बताई। 

प्रो‐ गुज्जरवार ने कहा कि दिल्ली सरकार के अधीन चलने वाला यह एकमात्र आयुर्वेदिक है, जिसे कोरोना मरीजों के लिए शुरू किया गया है। यहां आयुर्वेदिक पद्धति के आधार पर कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। हमारे पास कुल 270 बैड हैं जिनमें से 170 बैड को कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व किया गया है। मिनिस्ट्री ऑफ आयुष के प्रोटोकॉल को फॉलो करते हुए यहां मरीजों को दवा दी जा रही है।

मरकज मामले में जमातियों के खिलाफ आज दिल्ली पुलिस 12 चार्जशीट करेगी दाखिल

सत्येंद्र जैन की फिर बिगड़ी तबीयत, रखा गया ऑक्सीजन सपोर्ट पर, प्लाजमा थैरेपी से होगा इलाज

एलोपैथी के साथ मरीजों को करा रहें है योगा
हालांकि कई कोरोना रोगी ऐसे हैं जिन्हें शुगर, बीपी सहित अन्य बीमारियां हैं जिनमें हम एलोपैथी दवाओं को भी दे रहे हैं। अप्रैल से लेकर अभी तक करीब 400 कोरोना मरीजों को भर्ती करवाया गया है। जिनमें 235 के लगभग मरीजों को इलाज करके हम घर सुरक्षित भेज चुकें हैं। जिला मजिस्ट्रेट के निर्देशानुसार मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। इस दौरान आयुर्वेदिक दवाओं के साथ ही योग के उन आसनों को करवाया जा रहा है जोकि मरीज अपने बेड पर बैठकर कर सकते हैं।जिनमें ओमकार, लोम-विलोम, शवासन, प्राणायम, लाफ्टर थेरेपी भी दे रहे हैं, जिससे सांस लेने में होने वाली तकलीफें दूर हो रही हैं।

अब कोरोना वायरस को मारेगा ये रीयूजेबल मास्क, जानिए कैसे करेगा ये काम

हंसी-हंसी में कर रहे हैं कोरोना को दूर
प्रो‐ गुज्जरवार ने बताया कि अस्पताल में रोजाना शाम के समय डॉक्टर, नर्सिंग स्टॉफ व कोरोना मरीज एक-दूसरे को चुटकुले, कहानियां, कविताओं सहित गपशप करते हैं। जिससे कोरोना का डर उनके मन से खत्म हो रहा है और वो एकांतवास को इन्जॉय कर रहे हैं। कई मरीज तो इतने खुश थे कि वो ठीक होने के बाद भी अस्पताल छोड़कर ही नहीं जाना चाहते थे।

चंद्रशेखर आजाद ने पूछा- जय शाह के लिए देश पहले है या पैसा?

होम क्वारंटाइन में क्या करें
प्रो‐ गुज्जरवार ने कहा कि होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) के दौरान लोगों को अपने स्वास्थ्य रक्षण कर घर की सफाई पर खास ध्यान देना चाहिए और उचित दूरी बनाकर रहना चाहिए। वहीं सौंठ, अदरक, तुलसी, गिलोय व लेमन ग्रास का काढा बनाकर पीएं, गर्म पानी का सेवन करें और ठंडे पदार्थों से खुद को दूर रखें। हल्दी व नमक के पानी के गरारे करें और हल्दी का दूध पीने के साथ ही सिर्फ घर का बना खाना खाएं।

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.