Sunday, May 31, 2020

Live Updates: 68th day of lockdown

Last Updated: Sun May 31 2020 09:47 AM

corona virus

Total Cases

182,143

Recovered

86,936

Deaths

5,185

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA65,168
  • TAMIL NADU21,184
  • NEW DELHI18,549
  • GUJARAT16,356
  • RAJASTHAN8,617
  • MADHYA PRADESH7,891
  • UTTAR PRADESH7,701
  • WEST BENGAL5,130
  • BIHAR3,565
  • ANDHRA PRADESH3,461
  • KARNATAKA2,922
  • TELANGANA2,499
  • JAMMU & KASHMIR2,341
  • PUNJAB2,233
  • HARYANA1,923
  • ODISHA1,819
  • ASSAM1,217
  • KERALA1,209
  • UTTARAKHAND749
  • JHARKHAND563
  • CHHATTISGARH447
  • HIMACHAL PRADESH313
  • CHANDIGARH289
  • TRIPURA254
  • GOA70
  • MANIPUR60
  • PUDUCHERRY57
  • NAGALAND36
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA27
  • ARUNACHAL PRADESH3
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
yogi adityanath government start bus service for laborers migrating lockdown pragnt

Good News: योगी सरकार ने पलायन कर रहे मजदूरों का समझा दर्द, शुरू की ये सेवा

  • Updated on 3/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना (Coronavirus) की महामारी और लॉकडाउन (Lockdown) के बीच अनहोनी की आशंका से डरकर पलायन करने वाले प्रवासी मजदूरों (Labourers) और गरीब कामगारों की कुछ हैरान कर देने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं जिसमें कई मजदूर सिर पर गठरी रखे पैदल चल रहे हैं तो कई साइकिल से सैकड़ों मीलों का सफर तय करने को मजबूर हैं।

कोरोना संकट का लाभ उठाने वालों पर चला प्रशासन का डंडा, लगा एक लाख का जुर्माना

योगी सरकार का अहम कदम, स्पेशल बस सेवा शुरू
जब ये तस्वीरे सामने आई तो सरकार ने कुछ कदम उठाने शुरू कर दिए। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने सड़क पर सैकड़ों किलोमीटर पैदल चल रहे मजदूरों की हालत को देखते हुए एक बड़ा ऐलान किया। जिसमें उन्होंने आज यानि शनिवार से स्पेशल बस सेवा शुरू की है। 

लॉकडाउन: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, डोर स्टेप डिलीवरी के लिए 12 हजार वाहन तैयार

मजदूरों के चेहरे पर कोरोना की दहशत
दिल्ली-यूपी बॉर्डर के पास हजारों की संख्या में लोग परिवार और सामान के साथ जमे रहे। यहां लोग बसों की भीतर तो खचाखच भरी दिखाई ही दिए, बस की छत पर भी दर्जनों की संख्या में चढ़े हुए थे। पूछने पर बस एक ही बात यह लोग कह रहे हैं कि हम अपने गांव जा रहे हैं। यह पूछने पर कि सरकार खाने की व्यवस्था कर रही है और आर्थिक मदद भी की जा रही है तो फिर पलायन क्यों कर रहे हैं? मजदूरों ने कहा कि उनको अब अपने घर ही जाना है। पैदल ही अपने-अपने गांव की ओर निकल पड़े मजदूरों के चेहरे पर कोरोना की दहशत दिखाई दे रही थी। साफ पता चल रहा था कि दुनियाभर में फैली महामारी के बीच अब यह तबका पूरी तरह से डर गया है।

कोरोना लॉकडाउन में मजदूर बेहाल, योगेंद्र यादव ने मौजूदा त्रासदी की इस चित्र से की तुलना

लोगों ने बयां किया अपना दर्द
आपको बता दें कि इन मजदूरों से जब बात की गई तो उनका दर्द सुनकर हर किसी की आंखों में आंसू आ जाएंगे। बिना कुछ खाए 500-500 किलोमीटर का सफर तय करना आसान बात नहीं है। जब इनसे पूछा गया कि इतना लंबा सफर कैसे तय करोगे तो उन्होंने कहा कि कोरोना से मरे न मरे लेकिन भूख से जरूर मर जाएंगे। इसके साथ ही एक मजदूर ने कहा, 'घर जाकर मरे तो अर्थी को कंधा देने के लिए अपने तो होंगे'।

ईरान में मेथेनॉल को कोरोना की दवा समझ कर पी गए लोग, 300 की मौत

6 बड़े रूट्स पर 21 बसें चलाई गई
मजदूरों के दर्द को देखने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी मदद करते हुए प्रदेश के 6 बड़े रूट्स पर 21 बसें चलाए जाने की घोषणा की। ये बसे नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ से लेकर यूपी के अन्य क्षेत्र में जाएगी। सरकार के आदेश के बाद ही तुरंत गढ़मुक्तेश्वर रोडवेज डिपो से मजदूरों को गाजियाबाद लाने के लिए बस सेवा शुरू की गई। यात्रियों को रवाना करने से पहले बसों को अच्छे से सैनेटाइज कराया गया। इसके बाद बसों में कोरोना संक्रमण का खतरा न रहें इसलिए लोगों को एक दूसरे से दूर-दूर बिठाया गया। बता दें कि सरकार द्वारा चलाई जा रही ये स्पेशल बस सेवा जरूरतमंदों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए है। 

प्रियंका का CM योगी को पत्र, कोरोना से लड़ने में हर सहयोग का दिया भरोसा

प्रवासी मजदूरों को ठहरने की व्यवस्था कराने के आदेश
इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कोरोना वायरस (Covid19) की रोकथाम के लिए घोषित 'लॉकडाउन' के दौरान दूर-दूर से पैदल अपने घर जा रहे हैं लोगों को उसी स्थान पर किसी स्कूल, धार्मिक स्थल या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर रोककर उन्हें ठहराने की व्यवस्था करने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने यहां अपने सरकारी आवास पर कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए लागू की गई लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना वायरस एक संक्रामक बीमारी है।

Corona लॉकडाउन: मजदूरों के पलायन पर राहुल, प्रियंका ने मोदी सरकार को चेताया

श्रमिकों को हर जरूरत की चीजें उपलब्ध कराएं
इसके मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान श्रमिकों की यात्रा उनके तथा उनके परिवार सहित अन्य संबंधियों तथा गृह जनपद के लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा को जोखिम में डाल सकती है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश में अन्य राज्यों से आ रहे श्रमिकों को उनकी मौजूदगी वाले इलाके के आसपास किसी विद्यालय, धार्मिक स्थल, सामुदायिक केंद्र आदि पर रोककर बंद की अवधि तक भोजन, पेयजल, दवा उपलब्ध कराई जाए। प्रदेश से गुजरने वाले श्रमिक चाहे किसी भी प्रदेश के हों, उनके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। इसके लिए जिलाधिकारी को जवाबदेह बनाया जाए।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

Coronavirus: भारत में इस वजह से नहीं बढ़ेगा डेथ रेट, जानिए क्या कहती है नई रिपोर्ट

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

लॉकडाउन: Flipkart यूजर्स के लिए बुरी खबर, कंपनी ने बंद की ये Services

देश में हुए लॉकडाउन के मद्देनजर रेल सेवाएं अब 14 अप्रैल तक रहेंगी बंद

सामने आई Coronavirus की सबसे बड़ी कमजोरी, अब आपके पास नहीं भटकेगा ये वायरस

कोरोना वायरस : जानिए आखिर क्या है 21 दिनों के लॉकडाउन के पीछे का लॉजिक

21 दिनों के लॉकडाउन में घर पर रह कर न हों परेशान, सरकार दे रही है आपको ये सुविधाएं

लॉकडाउन का पहला दिन: Social Distancing के साथ सामान खरीदते हुए दिखे लोग

कोरोना वायरस : अब चीन पर लग रहे हैं 1500 से ज्यादा वायरस रखने के आरोप

Corona Virus के दौरान न करे इस दवा का सेवन! हो सकती है मौत

comments

.
.
.
.
.