yogi-adityanath-recommended-governor-to-remove-om-prakash-rajbhar-from-up-cabinet

एग्जिट पोल आते ही CM योगी ने ली बागियों की बलि, मंत्री को किया बर्खास्त, बेटे पर भी गाज

  • Updated on 5/20/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव (loksabha election 2019) के नतीजों से पहले और एग्जिट पोल के बाद देश की राजनीति में हलचल मचना शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश (up) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (yogi adityanath) ने ओम प्रकाश राजभर (om prakash rajbhar) को मत्रीमंडल के तत्काल प्रभार से हटा दिया है।

जानिए, हकीकत के कितना पास कितना दूर रहा है अब तक का #ExitPoll

सीएम योगी ने राज्यपाल राम नाईक( ram naik governor) को बर्खास्त करने की सिफारिश की थी, जिसे मंजूर कर लिया गया। इतना ही नहीं ओमप्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर (arvind rajbhar) पर भी गाज गिरी और उन्हें भी सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के चेयरमैन पद से हटाया दिया गया है। 

मीडिया रिपोट्स के मुताबिक राजभर ने कुछ समय पहले इस्तीफा दिया था लेकिन उन्होनें इस्तीफा देने से इनकार कर दिया। इसके बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्यपाल को पत्र लिखकर ओम प्रकाश राजभर को बर्खास्त करने की सिफारिश की थी।

मोदी सरकार के ईन केंद्रीय मंत्रियों ने नहीं चुकाया सरकारी बंगले का किराया

वहीं ओम प्रकाश राजभर ने सीएम योगी के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने बहुत अच्छा फैसला लिया है। उन्होनें कहा हमने योगी से समाजिक न्याय समिति का गठन करने की रिपोर्ट को जल्द से जल्द लागू करने की बात कही तो उन्होनें आज यह पैसला लिया है। 

एग्जिट पोल से विपक्षी एकता को लगा झटका! मायावती और पवार ने किया किनारा

बता दें कि राजभर सुहेलदेव समाज पार्टी के प्रमुख है। राजभर 2017 विधान सभा चुनाव के वक्त बीजेपी के सहयोगी दल के रूप में शामिल था। वहीं जब यूपी में भाजपा की सरकार आई तो उन्हें  पिछड़ा वर्ग कल्याण-दिव्यांग जन कल्याण मंत्री पद दिया गया था। इसके बाद से वह लगातार भारतीय जनता पार्टी और यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बयानबाजी करते आ रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.