Saturday, Jul 04, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 4

Last Updated: Sat Jul 04 2020 03:12 PM

corona virus

Total Cases

650,431

Recovered

394,793

Deaths

18,691

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA192,990
  • NEW DELHI94,695
  • TAMIL NADU86,224
  • GUJARAT34,686
  • UTTAR PRADESH24,056
  • RAJASTHAN19,256
  • WEST BENGAL17,907
  • ANDHRA PRADESH17,699
  • HARYANA15,732
  • TELANGANA15,394
  • KARNATAKA14,295
  • MADHYA PRADESH13,861
  • BIHAR10,392
  • ODISHA8,601
  • ASSAM7,836
  • JAMMU & KASHMIR7,237
  • PUNJAB5,418
  • KERALA4,312
  • UTTARAKHAND2,831
  • CHHATTISGARH2,795
  • JHARKHAND2,426
  • TRIPURA1,385
  • GOA1,251
  • MANIPUR1,227
  • LADAKH964
  • HIMACHAL PRADESH942
  • PUDUCHERRY714
  • CHANDIGARH490
  • NAGALAND451
  • DADRA AND NAGAR HAVELI203
  • ARUNACHAL PRADESH187
  • MIZORAM151
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS97
  • SIKKIM88
  • DAMAN AND DIU66
  • MEGHALAYA51
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
yogi-adityanath-uttatpradesh-sushil-kumar-modi-sanjay-jaiswal-narendra-modi

CAA विरोधी प्रर्दशनों को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने बताया साजिश

  • Updated on 1/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttatpradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने मंगलवार को यहां आरोप लगाया कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) विरोधी प्रदर्शन उन लोगों की ‘‘साजिश’’ है जो एकजुट और भव्य भारत नहीं चाहते है और ‘कुटिल’ विपक्ष इनकी मदद कर रहा है। इस कानून के समर्थन में भाजपा की एक रैली को संबोधित करते हुए योगी ने आरोप लगाया कि जो लोग इस कानून का विरोध कर रहे हैं, वे राष्ट्र हितों के खिलाफ ‘‘पाप’’ कर रहे है।  उन्होंने कहा कि सुशील कुमार मोदी (Sushil kumar modi) और संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) ने बहुत अच्छी तरह से स्पष्ट किया है कि सीएए प्रताडि़त शरणार्थियों को नागरिकता देने के बारे में है, न कि किसी व्यक्ति से नागरिकता छीनने के बारे में।     
सेना प्रमुख को धमकी दे ट्रोल हुए पाक मंत्री, यूजर्स ने कहा- sorry चौकीदार की पोस्ट खाली नहीं

मोदी और शाह प्रशंसा के पात्र
योगी ने कहा, ‘‘ऐसा कदम उठाने के लिए, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra modi) और गृह मंत्री अमित शाह (amit shah) प्रशंसा के पात्र हैं। इसके बजाय उन पर हमला किया जा रहा है।’’  उन्होंने कहा, ‘‘देशभर में प्रदर्शन हो रहे है और ‘कुटिल’ विपक्ष इन्हें भड़का रहा है। लेकिन देश के लोगों को यह समझने की जरूरत है कि यह एक साजिश है।’’ उन्होंने दावा किया,‘‘ये प्रदर्शन ऐसे लोगों द्वारा किये जा रहे है जो ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के खिलाफ है।’’ योगी ने कहा कि मोदी सरकार धार्मिक आधार पर लोगों के खिलाफ भेदभाव नहीं करती है। उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना और आयुष्मान भारत योजना जैसी कल्याणकारी योजनाओं से कई लोग लाभान्वित हुए है।     
कोई हिंदू समुदाय का व्यक्ति जिन्ना नहीं हो सकता: हिमंत विश्व सरमा

पाकिस्तान से नहीं डरता भारत
उन्होंने कहा, ‘‘क्या किसी को लाभार्थी के रूप में शामिल करने से पहले पूछा गया था कि उनका धर्म या जाति क्या है? ’’      योगी ने कहा, ‘‘यह नया भारत पाकिस्तान की परमाणु शक्ति (nuclear power)  से डरता नहीं है, जैसा कि पहले कांग्रेस करती थी।’’ मुख्यमंत्री ने कहा,‘‘ अनुच्छेद 370 (article 370) को निरस्त किए जाने से पाकिस्तान चिंता में पड़ गया है कि उसके हाथ से पीओके भी निकलकर भारत के हाथ जा सकता है।’’  योगी ने कहा कि श्री अरबिदो ने कहा था कि मौजूदा समय में सबसे बड़ा पुण्य, राष्ट्रीय हित के लिए काम करना है और सबसे बड़ा पाप इसके खिलाफ काम करना है। विपक्ष पाप कर रहा है। इसे आपको आंबेडकर और जोगेंद्र नाथ मंडल के उदाहरण से समझना चाहिए।     
शाहीन बाग रोड खाली करने को तैयार नहीं प्रदर्शनकारी, परेशान लोगों ने दी चेतावनी

आंबेडकर अपने देश के प्रति वफादार रहे
उन्होंने कहा, ‘‘आंबेडकर (Ambedkar) अपने देश के प्रति वफादार रहे जबकि मंडल जिन्ना की तरफ झुक गये और पाकिस्तान के निर्माण में मदद की और उस देश में मंत्री बने।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जहां आंबेडकर श्रद्धेय शख्सियत हैं, वहीं मंडल ने पाकिस्तान में दस साल के भीतर ही इतना घुटन महसूस किया कि उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया और कोलकाता चले आए, जहां उन्होंने अपने जीवन के अंतिम वर्ष गुमनामी में बिताए। याद रहे कि जो भी राष्ट्रीय हितों के खिलाफ काम करता है, उनकी यही दशा होती है।’’     

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.