Wednesday, May 12, 2021
-->
yogi-bjp-government-took-precautionary-measures-in-up-due-to-corona-havoc-rkdsnt

यूपी में कोरोना का कहर, योगी सरकार ने उठाए ऐहतियाती कदम 

  • Updated on 4/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान 15,353 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। यह राज्य में एक दिन में आए संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं। इस अवधि में 67 संक्रमण से मरीजों की मौत हुई है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक डी. एस. नेगी ने रविवार को यहां बताया, ‘‘पिछले 24 घंटों में प्रदेश में कोविड-19 के 15,353 नए मरीज मिले हैं। प्रदेश में एक दिन संक्रमित हुए मरीजों की यह सबसे बड़ी संख्या है। सबसे ज्यादा 4,444 नए मरीज राजधानी लखनऊ में मिले हैं।’’ 

मोदी सरकार की नीतियों के कारण भारतीयों पर कोरोना का कहर : कांग्रेस

इसके अलावा वाराणसी में 1740, प्रयागराज में 1565, कानपुर नगर में 881, गोरखपुर में 390, झांसी में 291, मेरठ में 255, बलिया में 222, बांदा और बरेली में 221, गौतम बुद्ध नगर में 219 और रायबरेली में 210 नए मरीजों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कोविड-19 से और 67 लोगों की मौत हुई है। 

एकता कपूर के ‘ऑल्टबालाजी’ ने मांगी पोस्टर चोरी के लिए माफी

इनमें सबसे ज्यादा 31 मरीजों की मौत राजधानी लखनऊ में हुई है। इसके अलावा प्रयागराज में नौ और कानपुर नगर में आठ मरीजों की मृत्यु हुई है। राज्य में इस वक्त 71,241 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान 2,03,780 नमूनों की जांच की गई। राज्य में अब तक तीन करोड़ 67,61,069 नमूनों की जांच की जा चुकी है। राज्य में शुरू से लेकर अब तक कुल 6,92,015 मरीज कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं। 

इंटरमीडिएट तक के सभी स्कूल 30 अप्रैल तक बंद
उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के कहर को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को 12वीं तक के सभी स्कूलों के साथ-साथ कोचिंग संस्थान भी आगामी 30 अप्रैल तक बंद रखने के आदेश दिए। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री ने यहां एक उच्चस्तरीय बैठक में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रदेश में कक्षा 12 तक के सभी सरकारी तथा गैर सरकारी विद्यालयों को 30 अप्रैल तक बन्द रखा जाए। इस अवधि में प्रदेश के कोचिंग सेन्टर भी बन्द रहेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व निर्धारित परीक्षाएं निश्चित प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन कर आयोजित की जा सकती हैं। गौरतलब है कि इससे पहले 12वीं तक की सभी स्कूल 15 अप्रैल तक बंद रखने के आदेश दिए गए थे। 

 AAP की पीएम मोदी से अपील- टीकाकरण में देशवासियों को दी जाए प्राथमिकता

मुख्यमंत्री ने लखनऊ, कानपुर नगर, वाराणसी तथा प्रयागराज में संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी रणनीति बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। योगी ने कहा कि सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए खुले स्थान पर 100 से अधिक तथा बन्द स्थान पर 50 से अधिक लोगों को एकत्र ना होने दिया जाए। उन्होंने कहा कि लखनऊ के एरा मेडिकल कॉलेज, टीएस मिश्रा मेडिकल कॉलेज तथा इन्टीग्रल मेडिकल कॉलेज को डेडीकेटेड कोविड अस्पताल के रूप में संचालित करने का निर्णय लिया गया है। यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक कोविड अस्पताल में कोरोना मरीजों के उपचार के लिए कम से कम 700 बिस्तरों की उपलब्धता अवश्य रहे। इसके लिए सभी जरूरी चिकित्सा संसाधनों की व्यवस्था की जाए। 

विपक्षी दलों के कड़े तेवरों के बाद मोदी सरकार ने कोरोना रोधी दवा के निर्यात पर लगाई पाबंदी

योगी ने कहा कि जिन जिलों में प्रतिदिन कोरोना के 100 या उससे अधिक मरीज नहीं मिल रहे हैं अथवा जहां कुल उपचाराधीन मामलों की संख्या 500 से अधिक है, वहां रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कोरोना कफ्र्यू लगाया जाए। व्यापक कान्टैक्ट ट्रेसिंग करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आए 30 से 35 लोगों का पता लगाते हुए उनका शत-प्रतिशत कोविड टेस्ट किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड टीकाकरण का कार्य प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए। प्रदेश में आज से चार दिवसीय ‘टीका उत्सव’ प्रारम्भ हो गया है। महात्मा ज्योतिबा फुले की जयन्ती से बाबा साहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की जयन्ती तक आयोजित इस टीकाकरण महाअभियान में लक्षित आयु वर्ग के अधिक से अधिक लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करायी जाए। 

रिजल्ट से पहले ही कांग्रेस सतर्क, खरीद-फरोख्त से बचने के लिए उम्मीदवार जयपुर में

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.