Monday, May 16, 2022
-->
yogi government is playing jail-jail with criminals: pm modi

अपराधियों के साथ जेल- जेल खेल रही है योगी सरकारः PM मोदी

  • Updated on 1/3/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को समाजवादी पार्टी (सपा) पर हमला करते हुए कहा कि इस पार्टी की पिछली सरकार के कार्यकाल में अपराधी और माफिया राज्य में अवैध कब्जों का टूर्नामेंट खेलते थे, मगर मौजूदा भाजपा सरकार अब उनके साथ ‘जेल- जेल’ खेल रही है।

मोदी ने मेरठ के सरधना में 700 करोड़ रुपये की लागत से बनने जा रहे उत्तर प्रदेश के पहले ‘मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय’ का शिलान्यास करने के बाद अपने संबोधन में पूर्ववर्ती सपा सरकार पर हमला करते हुए कहा, ‘उत्तर प्रदेश में जब पहले की सरकार थी तब यहां अपराधी और माफिया अपना खेल खेलते थे। पहले यहां अवैध कब्जों के टूर्नामेंट होते थे।’

उन्होंने कहा, ‘बेटियों पर फब्तियां कसने वाले लोग खुलेआम घूमते थे, हमारे मेरठ और आसपास के क्षेत्रों के लोग कभी भूल नहीं सकते कि लोगों के घर जला दिए जाते थे और पहले की सरकार अपने खेल में लगी रहती थी। ‘उन्होंने आरोप लगाया, ‘पहले की सरकारों के खेल का ही नतीजा था कि लोग अपना पुश्तैनी घर छोड़कर पलायन के लिए मजबूर हो गए थे। पहले क्या- क्या खेल खेले जाते थे। अब योगी जी की सरकार ऐसे अपराधियों के साथ जेल- जेल खेल रही है।‘

मोदी ने खेल विश्वविद्यालय का जिक्र करते हुए कहा, ‘अब उत्तर प्रदेश में असल तरीके से खेल को बढ़ावा मिल रहा है। उत्तर प्रदेश के युवाओं को खेल की दुनिया में छा जाने का मौका मिल रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘देश में खेलों को आगे बढ़ाने के लिए एक नई सोच की जरूरत है। यह जरूरी है कि हमारे खिलाडिय़ों में खेल को एक पेशा बनाने का विश्वास पैदा हो। यही मेरा संकल्प भी है और यही मेरा सपना भी। मैं चाहता हूं जिस तरह दूसरे पेशे हैं उसी तरह हमारे युवा खेलों को भी देखें।’

प्रधानमंत्री ने खेलों को बढ़ावा देने के लिये अपनी सरकार के प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा, ‘हमने 2018 में देश की पहली स्पोर्ट्स यूनिर्विसटी मणिपुर में स्थापित की। बीते सात सालों में देश भर में खेल शिक्षा और क्षमता से जुड़े अनेक संस्थानों को आधुनिक बनाया गया और अब आज उत्तर प्रदेश में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय खेलों में उच्च शिक्षा का एक और श्रेष्ठ माध्यम बनने जा रहा है।’

उन्होंने नई शिक्षा नीति में भी खेल को प्राथमिकता दिये जाने का हवाला देते हुए कहा, ‘खेल को अब उसी श्रेणी में रखा गया है जैसे विज्ञान, वाणिज्य, गणित, भूगोल या दूसरी पढ़ाई हो। पहले खेल को अतिरिक्त गतिविधि माना जाता था लेकिन अब खेल बाकायदा एक विषय होगा और उसका भी उतना ही महत्व होगा जितना बाकी विषयों का है।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि 700 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाला मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय दुनिया के श्रेष्ठ खेल विश्वविद्यालयों में से एक होगा। उन्होंने कहा कि यहां युवाओं को खेलों से जुड़ी अंतरराष्ट्रीय सुविधाएं भी मिलेंगी और यह एक करियर के रूप में स्पोर्ट्स को अपनाने के लिए जरूरी क्षमता का निर्माण भी करेगी और क्रांतिवीरों की नगरी खेल वीरों की नगरी के रूप में भी अपनी पहचान को और सशक्त करेगी।

मोदी ने आरोप लगाया, ‘पूर्व की सरकारों ने खेलों के प्रति संकुचित सोच को बदलने के लिए सार्थक प्रयास नहीं किये। पहले प्रशिक्षण से लेकर टीम चयन तक हर स्तर पर भाई- भतीजावाद, बिरादरी का खेल, भ्रष्टाचार का खेल, लगातार हर कदम पर भेदभाव होता था। बदलती प्रौद्योगिकी, बदलती मांग और बदलती क्षमता के लिए देश में पहले की सरकारें बेहतरीन इकोसिस्टम तैयार ही नहीं कर पायीं।’

मोदी ने सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का नाम लिए बिना तंज किया, ‘सरकारों की भूमिका अभिभावक की तरह होती है, योग्यता होने पर बढ़ावा भी दें और गलती होने पर ये कहकर न टाल दें कि लड़कों से गलती हो जाती है। ‘उल्लेखनीय है कि कुछ वर्ष पहले यादव ने दुष्कर्म के एक मामले में बयान दिया था कि लड़कों से गलती हो जाती है। मोदी ने कहा, ‘अब उत्तर प्रदेश में असली खेलों को प्रोत्साहन मिल रहा है। उसके युवाओं को खेल जगत में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का मौका मिल रहा है।’

प्रधानमंत्री ने प्रदेश में चीनी मिलों को बंद करने और कम कीमतों पर उनकी कथित बिक्री को लेकर पिछली सरकारों पर भी हमला किया। उन्होंने कहा, योगी सरकार के दौरान प्लांट बंद होने की बजाय नई मिलें खोली गईं। जो पहले सत्ता में थे, वे किसानों को गन्ने के भुगतान के लिए लालायित करते थे। इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरठ में उत्तर प्रदेश की पहली स्पोट््र्स यूनिर्विसटी‘मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय’का शिलान्यास किया। इस अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि विश्व स्तरीय अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय 91.38 एकड़ क्षेत्र में बनाया जाएगा और इसके निर्माण पर 700 करोड़ रुपए की लागत अनुमानित है। इस विश्वविद्यालय में 1080 खिलाडिय़ों को एक साथ प्रशिक्षण दिया जा सकेगा। इसमें खेल, खेल विज्ञान तथा खेल प्रौद्योगिकी के विभिन्न पाठ्यक्रमों के साथ प्रशिक्षण एवं शोध कार्य भी संचालित किए जाएंगे।

विश्वविद्यालय के शिलान्यास से पहले प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर मौजूद खिलाडिय़ों से बातचीत की। इसके अलावा उन्होंने खेल उत्पादों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया और मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के मॉडल को भी देखा।   

इसके पूर्व, मोदी मेरठ के काली पलटन मंदिर गए और वहां पूजा की। उसके बाद उन्होंने शहीद स्मारक भवन में अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। मोदी ने प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के पहले शहीद क्रांतिकारी मंगल पांडे की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अॢपत की। वह राजकीय स्वतंत्रता संघर्षालय भी गए और वहां रखी ऐतिहासिक चीजों का अवलोकन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.