Wednesday, Jun 03, 2020

Live Updates: Unlock- Day 3

Last Updated: Wed Jun 03 2020 09:51 PM

corona virus

Total Cases

214,664

Recovered

103,641

Deaths

6,028

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA74,860
  • TAMIL NADU25,872
  • NEW DELHI22,132
  • GUJARAT18,117
  • RAJASTHAN9,652
  • UTTAR PRADESH8,729
  • MADHYA PRADESH8,588
  • WEST BENGAL6,508
  • BIHAR4,096
  • KARNATAKA3,796
  • ANDHRA PRADESH3,791
  • TELANGANA2,891
  • JAMMU & KASHMIR2,718
  • HARYANA2,652
  • PUNJAB2,342
  • ODISHA2,245
  • ASSAM1,562
  • KERALA1,413
  • UTTARAKHAND1,043
  • JHARKHAND722
  • CHHATTISGARH564
  • TRIPURA471
  • HIMACHAL PRADESH345
  • CHANDIGARH301
  • MANIPUR89
  • PUDUCHERRY79
  • GOA79
  • NAGALAND58
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA30
  • ARUNACHAL PRADESH28
  • MIZORAM13
  • DADRA AND NAGAR HAVELI4
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
yogi governments decision will give land to jewar airport for free

उत्तर प्रदेश के जेवर एयरपोर्ट को मुफ्त जमीन देगी योगी सरकार

  • Updated on 9/10/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल ने गौतम बुद्ध नगर में बनने वाले जेवर हवाई अड्डे के लिये ग्रामसभा और राज्य सरकार की जमीन नागरिक उड्डयन विभाग को मुफ्त देने का आदेश दिया है। मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल बैठक में राज्य सरकार के प्रवक्ता मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने इस निर्णय की जानकारी दी है।

#JNU राजद्रोह मामले में ओछी राजनीति कर रही है #BJP : #AAP

बैठक में उन्होंने बताया कि जेवर हवाई अड्डे के लिये नागरिक उड्डयन विभाग को ग्रामसभा की 59.79 हेक्टेयर और राज्य सरकार के स्वामित्व वाली 21.36 हेक्टेयर जमीन मुफ्त देने का फैसला किया गया है। उन्होंने यह भी कहा ‘‘पहले चरण में इस हवाई अड्डे का विस्तार 1334 हेक्टयर क्षेत्र में किया जाएगा और इसके वर्ष 2023 तक बनकर तैयार होने की पूरी उम्मीद है।’

यौन उत्पीड़न मामले में अकबर के खिलाफ प्रिया रमानी ने दी जोरदार दलीलें

करीबन 5000 हेक्टेयर क्षेत्र में बनने वाला यह हवाई अड्डा जिसके निर्माण के लिए 15754 करोड़ की लागत का अनुमान लगाया गया है। आपको बता दे एयरपोर्ट के काम को लेकर अलग-अलग योजनाएं बनाई गई हैं। साथ ही इसके निर्माण कार्य के लिए यमुना एक्सप्रेसवे अथोरिटी को भी यूपी सरकार ने नोडल एजेंसी बनाया है। जेवर एयरपोर्ट से नोएडा की दूरी करीब 56 किलोमीटर तक बताई जा रही है। सरकार का कहना है कि इस एयरपोर्ट को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत बनाया जा रहा है और 2023 तक इस एयरपोर्ट के पूरी तरह ऑपरेशनल होने की पूरी उम्मीद है। 

ज्वैलरी बिजनेस में भी छाई मंदी, कारीगरों की जा सकती हैं नौकरियां

इस एयरपोर्ट की दूरी दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट से करीब 72 किलोमीटर है। यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए जेवर एयरपोर्ट को देश के दूसरे हिस्सों से जोड़ेने की भी उम्मीद जताई गई है। बताया जा रहा है कि इसका संचालन पूरी तरह शुरू होने पर इसमें लगभग आठ रनवे काम करेंगे। इतनी संख्या में रनवे वाला ये देश का पहला हवाई अड्डे होगा। हवाई अड्डे का निर्माण वर्ष 2020 के शुरुआती महीनों में प्रारम्भ होने की सम्भावना है।

जन न्यायाधिकरण को भी नहीं भा रही है मोदी सरकार की #NRC नीति

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.