Friday, Oct 07, 2022
-->
young farmer protesting at singhu border dies kmbsnt

सिंघू बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे युवा किसान की मौत, परिजन बोले ठंड के कारण तोड़ा दम

  • Updated on 12/8/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ सिंघू बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे एक किसान की मौत (Farmer Dies) हो गई है। किसान के परिजनों का कहना है कि रातभर ठंड लगने से उसकी मौत हुई है। टीडीआई सिटी के सामने किसान की मौत हुई है। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मृतक किसान का नाम अजय और उम्र 32 साल बताई जा रही है। वो सोनीपत का रहने वाला है। उसके पास एक एकड़ की जमीन थी, इसके अलावा वो ठेके पर जमीन लेकर खेती किया करता था। इस आंदोलन में शुरू से वो भी हिस्सा ले रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि रात को वो खाना खाकर सो गया था और उसके बाद सुबह वो उठा ही नहीं। वहीं किसान अजय के परिजनों का कहना है कि रातभर ठंड में धरना देने के कारण उसकी मौत हुई है। 

बता दें कि नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान लगातार 12 दिन से दिल्ली की सीमाओं पर धरने पर बैठे हैं। हजारों की संख्या में बॉर्डर पर किसानों का जमावड़ा है। आज किसानों ने भारत बंद का ऐलान किया है। किसानों ने पूरे देशवासियों ने आज भारत बंद का समर्थन करने की अपील की हैा।

आज सुबह 11 बजे  से 3 बजे तक भारत बंद का ऐलान किया गया है। ऐसे में दिल्ली पुलिस ने लोगों की सुविधा के लिए पहले से ही उन्हें आगाह कर दिया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट कर लोगों को बताया है कि सिंघू, औचदी, पियाओ, मनीयारी, मंगेश, टिकरी और झरोदा बॉर्डर बंद है। यातायत पुलिस ने कहा कि राषट्रीय राजमार्ग-11 भी दोनो तरफ से बंद है। 

आंदोलन में शामिल किसानों के लिए दिलजीत दोसांझ ने दान किए 1 करोड़ रुपए, सरकार से की ये मांग

24 सियासी पार्टियां और दर्जनों ट्रेड यूनियन्स कर रही बंद का समर्थन
इस बीच देश की 24 सियासी पार्टियां और दर्जनों ट्रेड यूनियन्स ने किसानों के भारत बंद को समर्थन का ऐलान कर दिया है। इसमें कांग्रेस, एनसीपी, आरजेडी, सपा, बसपा, द्रमुक, टीआरएस और सीपीआई (एम), सीपीआई, सीपीआई (एमएल), झारखंड मुक्ति मोर्चा, शिव सेना, शिरोमणि अकाली दल, गुपकार अलाएंस, टीएमसी, एआईएमआईएम, आम आदमी पार्टी, पीडब्ल्यूपी, बीवीए, आरएसपी, फारवर्ड ब्लाक, जेडी-एस, एसयूसीआई-सी, स्वराज इंडिया जैसे प्रमुख सियासी दल शामिल हैं।

खुले रहेंगे ये रास्ते
पुलिस ने इस मार्ग  पर यात्रा कर रहे लोगों से वैकल्पिक लामपुर, साफियाबाद, सफोली बॉर्डरों से यात्रा करने की सलाद दी है। वहीं मुकरबा और जीटीके रोड पर भी यातायात को मोड़ा गया है। नोएडा की ओर जाने वाले लोगों को डीएनडी से जाने की सचला दी गई है। क्योंकि नोएडा रिंग रोड पर चिल्ली बॉर्डर भी यातायात के लिए बंद है। लोगों को दिल्ली आने् के लिए एनएच-24 का इस्तेमाल करने की बजाए अइप्सरा, भोपरा, डीएनडी के जरिए आिने की सलाह दी है।

दिल्ली यातायात पुलिस ने कहा है कि बादुसराय सीमा हल्का वाहनों. कार और दोपहिया वाहनों के लिए खुला है, जबकि झाटीकारा सीमा सिर्फ दोपहचिया वाहनों के आने जाने के लिए खुली है। 

किसानों ने अगर इन 5 नेशनल हाईवे रोके तो राज्यों में जरूरी सामान की हो जाएगी भारी किल्लत….

ड्रोन से रखी जाएगी यूपी हरियाणा के बॉर्डर  पर नजर
इस दौरान दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम भी कर लिए हैं। 12 अस्थाई कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। 20 से अधिक कंपनियों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही ड्रोन, हैलीकाप्टर से हरियाणा और उत्तर प्रदेश के बॉर्डर की निगरानी की जाएगी। 

ये भी पढ़ें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.