Saturday, Jul 20, 2019

दांतों के खराब होने और मसूड़ों की बीमारी के लिए आपका जीन हो सकता है जिम्मेदार

  • Updated on 7/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मोटापा, शिक्षा और व्यक्तित्व जैसे कई आनुवंशिक गुण और कारक दांतों के खराब होने (Dental problems) और मसूड़ों की बीमारियों (gum problems) के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। इसका खुलासा एक नए अध्ययन से हुआ है।

बकरी का दूध हैं शिशु पाचन तंत्र के लिए बेहद फायदेमंद, जानें विशेषताएं

यूनिर्विसटी ऑफ ब्रिस्टल 

ब्रिटेन में यूनिर्विसटी ऑफ ब्रिस्टल के अनुसंधानकर्ताओं (research) ने कहा कि दो लोग जो एक जैसा खाना खाते हैं और अपने मुंह का ख्याल भी एक ही तरह से रखते हैं, उनमें भी दांतों की सडऩ की बीमारी अलग-अलग हो सकती है लेकिन अनुसंधानकर्ता अभी तक इसके पीछे की वजह बताने में सक्षम नहीं थे।  

मोटे-मोटे चश्मों और कॉन्टेक्ट लेंस की मुसीबतों से अब ये नयी तकनीक दिलाएगी छुटकारा

इंस्टीट्यूट ऑफ ओडोनोटोलॉजी

स्वीडन के उमिया यूनिर्विसटी के ‘इंस्टीट्यूट ऑफ ओडोनोटोलॉजी’ के इंगेगर्ड जोनासन ने बताया,‘ इस अध्ययन से स्पष्ट पता चला है कि दांत भी हमारे शरीर का हिस्सा हैं। कई अन्य चीजों के साथ ही हम यह देख सकते हैं कि हृदय संबंधी बीमारियों और दांतों के खराब होने का भी संबंध है। इसको लेकर पहले भी अनुसंधान हुए और उसमें यह भी सामने आया की इसमें जीन शामिल हो सकते हैं लेकिन किसी की भी पुष्टि नहीं हो पाई थी।

वजन से लेकर स्किन तक सभी प्रॉब्लम्स से छुटकारा दिलाएगा विटामिन-सी, फायदे जानकर चौंक जाएंगे आप

ये बीमारियां बहुत पेचीदा होती हैं और इस संबंध को समझने के लिए बड़े अनुसंधान की जरूरत होती है। मौजूदा अध्ययन ‘नेचर कम्युनिकेशन’ में प्रकाशित हुआ है और इसमें नौ अंतरराष्ट्रीय क्लिनिकल अध्ययन के आंकड़े हैं। इस अध्ययन में 62,000 लोगों ने हिस्सा लिया था। इस अनुसंधान 47 नए जीन की पहचान की गई जो दांतों के खराब होने से जुड़े हुए थे।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.