Saturday, Feb 29, 2020
youth congress nsui tickets due to senior leaders delhi elections 2020

दिल्ली: वरिष्ठ नेताओं के मैदान छोड़ने से कांग्रेस के अन्य संगठनों की बढ़ी टिकटों में भागीदारी

  • Updated on 1/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र (Maharashtra), हरियाणा (Haryana) और झारखंड (Jharkhand) के चुनावों के दौरान टिकट वितरण से मायूस हुए युवा कांग्रेस (Youth Congress), एनएसयूआई (NSUI) और महिला कांग्रेस की दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) के लिए उम्मीदवारों के चयन में भागीदारी बढ़ी है और इसकी एक बड़ी वजह कांग्रेस (Congress) के कई वरिष्ठ नेताओं का चुनाव लड़ने की अनिच्छा जाहिर करना है।

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि कई ऐसी सीटें हैं जहां पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के तैयार नहीं होने के बाद नए चेहरों को मौका दिया गया है। पार्टी की ओर से नए चेहरों को मौका दिए जाने का सबसे ज्यादा फायदा कांग्रेस की युवा इकाई ‘भारतीय युवा कांग्रेस’ को मिला है। उसकी अनुशंसा पर कुल छह उम्मीदवारों को टिकट मिला है। एनएसयूआई की अनुशंसा पर एक टिकट मिला है।

दिल्ली चुनाव: काम पर वोट पढ़ना चाहिए, धर्म जाति पर नहीं- केजरीवाल 

सूत्रों के मुताबिक युवा कांग्रेस के कोटे से अमनदीप सूदन (राजौरी गार्डन), सुभम शर्मा (तुगलकाबाद), महेंद्र चौधरी (महरौली), सिद्धार्थ कुंडू (नरेला) और गौरव धनक (करोलबाग) है। युवा कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने बताया कि कांग्रेस की मीडिया पैनलिस्ट राधिका खेड़ा के नाम की अनुशंसा भी कांग्रेस की युवा इकाई की तरफ से की गई थी। राधिका जनकपुरी विधानसभा सीट से उम्मीदवार हैं। एनएसयूआई कोटे से रॉकी तूसीद को राजेन्द्र नगर से उम्मीदवार बनाया गया है। तूसीद दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) के पूर्व अध्यक्ष हैं।

युवा कांग्रेस के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, 'दिल्ली चुनाव से पहले जिन तीन राज्यों में चुनाव हुए वहां हमें उम्मीद के मुताबिक टिकट नहीं मिले थे, जबकि इन राज्यों में सीटों की संख्या भी यहां से ज्यादा थी। दिल्ली में कांग्रेस 66 सीटों पर लड़ रही है और इनमें छह उम्मीदवार हमारे कोटे से हैं।' इससे पहले महाराष्ट्र चुनाव में युवा कांग्रेस की अनुशंसा पर तीन और हरियाणा एवं झारखंड में एक-एक टिकट मिले थे।

दिल्ली चुनाव: यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में स्नान कर सकेंगे- केजरीवाल

कांग्रेस ने दिया 10 महिलाओं को टिकट
 दिल्ली चुनाव में अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की दो वरिष्ठ पदाधिकारियों नीतू वर्मा (मालवीय नगर) और आकांक्षा ओला को (मॉडल टाउन) उम्मीदवार बनाया गया है। इस बार, कांग्रेस ने दिल्ली (Delhi) में कुल 10 महिलाओं को टिकट दिया है जो भाजपा और आप की तुलना में अधिक है। कांग्रेस के अनुसूचित विभाग के वरिष्ठ पदाधिकारी एसपी सिंह को गोकलपुर और पार्टी के असंगठित कामगार प्रकोष्ठ के प्रमुख अरविंद सिंह को करावल नगर से टिकट मिला है।

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'कई सीटों पर हम चाहते थे कि हमारे वरिष्ठ नेता चुनाव लड़ें, लेकिन कुछ नेता किन्ही कारणों से चुनाव नहीं लड़ सके तो हमने नए चेहरों पर भरोसा जताया।' खबरों के मुताबिक जिन वरिष्ठ नेताओं ने चुनाव लड़ने से अनिच्छा जताई उनमें अजय माकन, जेपी अग्रवाल, हसन अहमद, नसीब सिंह और कुछ अन्य नेता शामिल हैं।

comments

.
.
.
.
.