Monday, Jan 27, 2020
cleaning house in a shortcut tips

घर के कामों को चुटकि में निपटाएं, यहां जानें आसान तरीके

  • Updated on 1/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। घर (house) के बहुत से काम ऐसे होते हैं जिन्हें करने में बहुत समय लगता है परंतु आप अपनी कीमती समय बचा कर कुछ शॉर्टकट को अपनाकर उन कामों को जल्दी पूरा कर सकती हैं। जिससे की आपका घर हमेशा चमकता हुआ नजर आएगा। 

आपके सफेद कपड़ो की चमक रहेगी हमेशा बरकरार, बस Try करें इन टिप्स को

यहां जाने आसान टिप्स
-घर के अनेक कामों को करने के लिए एक ही मल्टी परपस क्लीनिंग प्रोडक्ट खरीदें जिससे घर में बॉटल्स का ढेर नहीं लगेगा।

-आवश्यक क्लीनिंग प्रोडक्ट्स, ब्रश और डस्टर एक बास्केट में रखें ताकि उन्हें एक कमरे से दूसरे कमरे में आसानी से ले जाया जा सकें।

-यदि आप नया वैक्यूम क्लीनर खरीदने की सोच रहीं है तो ऐसा मॉडल खरीदे जिसमें टूल स्टोरेज हो सके ताकि अटैचमेंट खोजने में समय बर्बाद ना हो। 

जनवरी के महीने में पैदा होने वाले लोगों के बारे में ये बात नहीं जानते होंगे आप

-मैली खिड़कियां पूरे कमरे को डल कर देती हैं। सॉफ्ट डिटर्जेंट में थोड़ा विनेगर डालकर खिड़कियों को स्पंज से साफ कर न्यूजपेपर से पोंछ दे।

-पहले कमरे की धूल साफ करें फिर झाड़ू या वेक्यूम क्लीनर से साफ करें। रूम को साफ करने का आसान तरीका है।

-इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि घर के दरवाजे हमेशा साफ रहे तथा सभी ग्लास ज्या मेटल डोर फिटिंग पॉलिश किए हुए हों।

-बाथरुम और किचन के नल को और फिटिंग के आस-पास की जगह को पुराने टूथ ब्रश से सोडाबाई कार्ब में डूबा कर साफ करें।

-फ्रिज में नींबू का टुकड़ा रखें, ताजी सुगंध रहेगी और खाना बनाते समय एग्जॉस्ट फैन का इस्तेमाल करें। 

तो बच्चा इसलिए भी रोता है, यहां जाने सारी वजह

-बाथरूम के मिरर या शीशे को कोमल कपड़े या विंडो क्लीनर से साफ करें।

-हम दरवाजे पर उंगली का दाग या दरवाजे के हैंडल पर या लाइट स्विच पर लगे दाग को हमेशा नजरअंदाज कर देते हैं, जबकि इसे साफ करना मिनटों का काम है।

-बाथरूम के फ्लोर या वॉल्स पर मैल जमने ही ना दें, स्क्रब करके रोज निकाल दे। थोड़े डिटर्जेंट या लिक्विड क्लीनर से बाथरूम या बेसिन को कोमल कपड़े या ब्रश से टॉयलेट और उसके आस-पास के जगहों को साफ करें। सबसे अच्छा है कि परिवार वालों को इस बात की शिक्षा दें की बाथरूम यूज करने के बाद वे इसे साफ भी कर दे।

comments

.
.
.
.
.