Sunday, Apr 21, 2019

बच्चों की भावनाएं समझना जरूरी

  • Updated on 3/1/2017

Navodayatimes नई दिल्ली/टीम डिजिटल। यदि आपके बच्चे का भावनात्मक स्तर किसी वजह से बिगड़ा हुआ है तो वह कुछ संकेत देता है। इन संकेतों को समझना आपकी जिम्मेदारी है ताकि आप वक्त पर उनका निदान कर सकें। यदि बच्चा अंगूठा चूसे या दांत से नाखून काटे, बहुत रोए, दूसरों से नजरें मिलाने से बचे, बहुत हिंसक एवं आक्रामक हो जाए, बच्चे को सोने में या बोलने में तकलीफ हो, उसे अकेले रहना पसंद हो तथा वह खेलने न जाता हो, बहुत जिद्दी हो जाए, किसी बात या चीज का फोबिया हो जाए, खुद के बारे में नकारात्मक बातें करे, बिस्तर गीला करे, शर्मीले स्वभाव का हो जाए या उसका शारीरिक और मानसिक विकास धीमा हो जाए तो आपको उसकी तरफ पूरा ध्यान देना होगा।

बोर्ड परीक्षा में अच्छे नंबर पाने के कुछ आसान ‘स्मार्ट टिप्स’
बच्चों पर इसके कई तरह के प्रभाव देखने को मिलते हैं

  • इससे बच्चा डिप्रेशन में चला जाता है।
  • रिश्ते-नाते एवं रिश्तेदारों से कटने लगता है।
  • बहुत सारे अनजाने भय से ग्रस्त हो जाता है।
  • अपनी भावनाओं को ठीक से व्यक्त नहीं कर पाता।
  • उसमें किसी पर या खुद पर विश्वास की कमी हो जाती है।
  • वह हमेशा सब को शक की नजर से देखने लगता है।
  • स्वयं को हमेशा कम आंकने लगता है।

अच्छी याददाश्त के लिए अपनाएं ये नुस्खे

जरूरी है उसका इमोशनल अत्याचार से बाहर आना
भावनात्मक नुक्सान के प्रभाव लंबे अर्से के बाद ही सामने आते हैं और उस समय उनका इलाज कर पाना मुश्किल हो जाता है। यह सिर्फ बच्चे के विकास के लिए ही नहीं, बल्कि उसके जीवन के लिए भी घातक होता है।
क्या करें अभिभावक
याद रखें कि बाल मन जितना सरल एवं सहज होता है उतना ही जटिल भी होता है। आपके बच्चे आपसे सिर्फ प्यार और स्वीकृति चाहते हैं। वे चाहते हैं कि आप उनकी सफलता को ही नहीं, बल्कि असफलता को भी सहर्ष स्वीकार करें। उन्हें संबल दें, उन्हें भावनात्मक सुरक्षा प्रदान करें। उनसे बात करें तथा उनकी चिंताओं एवं सवालों का समाधान करें। इसके लिए अभिभावकों को चाहिए कि उनकी आंखों में अपने सपने भरने की अपेक्षा उनके सपनों को समझें और उन्हें पूरा करने में उनका साथ दें। अभिभावकों को चाहिए कि अपने बच्चों की भावनाओं का सम्मान करें। जरूरत पडऩे पर काऊंसलर की मदद लेने से भी न हिचकें। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.