Thursday, Jun 04, 2020

Live Updates: Unlock- Day 4

Last Updated: Thu Jun 04 2020 03:45 PM

corona virus

Total Cases

217,965

Recovered

104,242

Deaths

6,091

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA74,860
  • TAMIL NADU25,872
  • NEW DELHI23,645
  • GUJARAT18,117
  • RAJASTHAN9,720
  • UTTAR PRADESH8,870
  • MADHYA PRADESH8,588
  • WEST BENGAL6,508
  • BIHAR4,326
  • KARNATAKA4,063
  • ANDHRA PRADESH3,791
  • TELANGANA3,020
  • HARYANA2,954
  • JAMMU & KASHMIR2,857
  • ODISHA2,388
  • PUNJAB2,376
  • ASSAM1,831
  • KERALA1,495
  • UTTARAKHAND1,087
  • JHARKHAND764
  • CHHATTISGARH626
  • TRIPURA573
  • HIMACHAL PRADESH359
  • CHANDIGARH301
  • GOA126
  • MANIPUR108
  • PUDUCHERRY88
  • NAGALAND58
  • ARUNACHAL PRADESH37
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM17
  • DADRA AND NAGAR HAVELI11
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
mehandi designs for hariyali teej and rakshabandhan

हरियाली तीज पर अपने हाथों पर सजाएं मेहंदी, देखें ये आर्ट वर्क

  • Updated on 8/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अगस्त (August) का महीना शुरू होने वाला है, साथ ही हरियाली तीज (Hariyali Teej) और रक्षा बंधन (Rakshabandhan) जैसे कई त्योहार आने वाले हैं। आपको बता दें कि, इस बार हरियाली तीज 3 अगस्त को पड़ रहा है। वहीं, रक्षा बंधन 15 अगस्त के दिन लग रहा है।

यह पर्व वैसे तो सभी के लिए बहुत खास होता है लेकिन सुहागन महिलाओं (Married Womens) और कुंवारी लड़कियों (Single Girls) के लिए यह पर्व अनमोल माना गया है। इस त्योहार (Festival) पर सजने-सवंरने और नए कपड़े पहनने का रिवाज (Rituals) होता है। साथ ही इस दिन मेहंदी (Mehandi) को भी विशेष अहमियत दी जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मेहंदी का उदय आखिर कब और कहां से हुआ।

रक्षा बंधन पर इन मैसेज से भेजे अपने भाई को प्यार, त्योहार बनेगा खास

Navodayatimes

अपनाए ये दादी अम्मा के नुस्खे, रातों- रात गायब होंगे पिंपल्स

पौराणिक कथाओं में मेहंदी को लेकर मान्यता

पौराणिक कथाओं (Mythology Facts) के मुताबिक मेहंदी का उल्लेख देवी-देवताओं के युग में मिला है। बता दें कि, जब राक्षसों ने स्वर्ग पर आक्रमण किया था तो सभी देवी-देवता राक्षसों को रोकने में असफल हो गए थे जिसके बाद मां दुर्गा काली का रूप लेकर देवी-देवातों के लिए बचाव में उतरी थी। जब मां काली ने राक्षसों का वध किया था तो उस दौरान मां काली के शरीर पर रक्त की धारा बह रही थी जिसको देख सभी देवता और ऋषि-मुनी भयभीत हो उठे।

Navodayatimes

लड़कियों का लंबे लड़कों के पीछे आकर्षित होने का ये है कारण

मां काली का क्रोध शांत करने के लिए महादेव ने कराया एहसास

मां काली का क्रोध ना शांत होने पर सभी देवी देवता ऋषि-मुनी देवराज इंद्र के पास गए। जहां उन्होंने बताया की मां काली का गुस्सा सिर्फ देवो के देव महादेव ही शांत कर सकते हैं। इसके बाद इंद्र ने भगवान शिव को सारी व्यथा बताई जिसे सुनने के बाद महादेव मां काली के पास पहुंच गए जहां उन्होंने मां काली को इस बात का एहसास कराया की उनके इस रूप से हर कोई भयभीत हो रहा है।

Navodayatimes

मानसून में Couple आखिर क्यों हो जाते हैं रोमांटिक ?

मां काली ने प्रकट की देवी सुर सुंदरी

मां काली ने महादेव की बात को गंभीरता से लिया जिसके बाद मां काली ने अपने इच्छा शक्ति से एक देवी को प्रकट किया। इस देवी का स्वरूप इतना आकर्षक था कि उनका नाम सुर सुंदरी पड़ गया। जब मां दुर्गा ने सुर सुंदरी को आदेश दिया तो वह उनके हाथ-पैर पर औषधी के रूप में सज गई जिसके चलते उनका नाम मेहंदी पड़ गया। मां दुर्गा ने सुर सुंदरी को आर्शिवाद दिया की वे ऐसे ही महिलाओं के हाथ और पैर पर सजती रहेंगी साथ ही औषधी के गुण भी प्रदान करेंगी।

Navodayatimes

देर रात तक खाना कहीं बन ना जाए आपकी सेहत के लिए मुसीबत, ये है कुछ जरूरी बातें

मेहंगी के महत्व

मेहंदी यानी की हीना हर महिला के लिए मेहंदी को बेहद शुभ माना गया है। और साथ ही ये लड़कियों और महिलाओं के हाथों की भी शोभा को बढ़ाता है। मेहंदी लगाने के कई महत्व है जैसे ये खुशहाली का प्रतीक है, औषधीय गुणों से भरपूर है और इससे मानसिक तनाव भी दूर होता है।

Navodayatimes

comments

.
.
.
.
.