Monday, Dec 06, 2021
-->
perfect-treatment-of-acidity-in-your-kitchen-learn-how-to-use

आपके किचन में है एसिडिटी का परफैक्ट ईलाज, जानें कैसे करें उपयोग

  • Updated on 10/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आजकल की जिंदगी में हर दूसरा व्यक्ति एसिडिटी का शिकार है। इसका एक कारण है सही खान-पान। खान-पान पर सही तरीके से ध्यान देकर हम एसिडिटी से खुद को बचा सकते है। यदि इस समस्या पर समय रहते ध्यान नहीं दिया जाए तो यह एक गंभीर बीमारी का रूप ले सकता है। आज हम आपको एसिडिटी के लक्षण, कारण और निदान के बारे में बताएंगे।

हंसने के हैं ये जबरदस्त फायदे, आप भी जरूर आजमाएं

एसिडिटी का मुख्य कारण

  • खाना नहीं खाने से
  • लंबे अंतराल के बाद खाना खाने से
  • ज्यादा तेल-मसाला के इस्तेमाल से
  • अच्छी नींद नहीं लेने से
  • अधिक चाय और शराब का सेवन करने से

शोध में खुलासा गर्भवस्था में तनाव लेने से बच्चे के लिंग पर पड़ सकता है बुरा असर

एसिडिटी के लक्षण

  • पेट, छाती या गले में जलन होना
  • खट्टी डकारें आना
  • डकार के साथ-साथ गले में खट्टा व तीखापन लगना
  • उल्टी आना
  • अपच,कब्ज और दस्त जैसी समस्या

म्यूजिक सुनने से जिंदगी की इन परेशानियां से पा सकते हैं निजात

एसिडिटी के घरेलू ईलाज

लौंग- हमारे किचन में लौंग आसानी से मिल जाता है क्योंकि खाने को टेस्टी करने में इसका योगदान हम सभी को पता है। लौंग का इस्तेमाल हम एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए कर सकते हैं इसके लिए दो लौंग लें और चबाकर खा लें। इसके अलावा आप खाना पकाने में भी लौंग को जरूर इस्तेमाल करें।


दालचीनी- दालचीनी एक ऐसा मसाला है जो आपके खाने के स्वाद को बेहतरीन कर देता है। आपको पता है कि यह मसाला पेट की एसिडिटी कम करने में भी रामबाण इलाज है। यह पाचन तंत्र को सही रखने में मदद करता है। इसके लिए आप दालचीनी के मसाला को एक कप पानी में मिलाकर 5 मिनट तक उबाल लें और दिन में तीन बार इस पानी को पिएं।

अगर चाहते हैं अच्छी नींद तो इन 3 योगासन को जरूर अपनाएं

सौंफ- आप एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए खाने के बाद नियमित सौंफ का सेवन करें। यह आपके खाने को जल्दी पचाने में मदद करेगा और एसिडिटी जैसी समस्या से छुटकारा दिलाएगा।


अदरक- एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए आप अदरक के रस में हल्का सेंधा नमक डालें और इसमें भूना हुआ जीरा पाउडर मिला लें और इसको खाएं। यह आपके एसिडिटी की समस्या को कम करेगा।

comments

.
.
.
.
.