these are the disadvantages of social media

सोशल मीडिया से होने वाली बेचैनी से जा सकती है आप की जान !

  • Updated on 7/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जरा सोचिए, की आप सोशल मीडिया पर कुछ काम कर रहे हों और अचानक से आपका सोशल मीडिया काम करना बंद कर दें तो आपकी क्या हालत हो जाएगी। यूं, तो आज की भाग दौड़ भरी इस दौर में दुनिया काफी एंडवास हो गया है और लोग ज्यादा से ज्यादा से सोशल मीडिया पर अपना समय देने लगे हैं। जहां लोग बात करने के लिए एक दूसरे के घर मिलने जाया करते थे वहीं अब लोग व्हाट्सऐप और फेसबुक पर ही हालचाल लेते हैं। पुराने समय में लोग ज्यादा से ज्यादा अखबार पढ़ते थे वहीं सोशल मीडिया के आते ही लोग अब ई-न्यूज पेपर को पढ़ना ज्यादा पसंद करते हैं।

सोने से पहले बिल्कुल न खाएं ये चीजें, सेहत पर हो सकता है उल्टा असर

सोशल मीडिया के आने से जहां लोगों की लाइफ ईजी हो गई है वहीं लोग इसमें इतना घुसते जा रहे हैं कि लोगों का बाकि चीजें दिखाई ही नहीं दे रही है। व्हाट्सऐप और फेसबुक का क्रेज इस हद तक बढ़ गया है कि अगर एक दिन ना चलाएं तो लोगों को बेचानी होने लगती है। बता दें कि, बीतें कुछ दिनों पहले कुछ तकनीकी खराबी की वजह के चलते अचानक रात में व्हाट्सऐप और फेसबुक ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे थे। और इसी तकनीकी खराबी की भाषा में एप का 'डाउन हो जाना' कहते हैं।

International kissing day : चुंबन करने के 5 ऐसे तरीके जिससे मिलेंगे फायदे

व्हाट्सऐप और फेसबुक के अचानक बंद होने से यूजर को ट्विटर का सहारा लेना पड़ा क्योंकि यही एक ऐसा सोशल मीडिया एप है, जो डाउन नहीं हुआ और ज्यादातर काम करता रहा। व्हाट्सऐप और फेसबुक के बंद होते ही कई लोग इसे परेशान रहें वहीं कई लोगों को इससे बेचानी भी होने लगी। सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुंबई के 21 वर्षीय कॉलेज छात्र दीपांशु जैन ने बताया कि, एप का डाउन होना हमें ये एहसास कराता है कि हम वास्तव में इंटरनेट और एप पर कितना निर्भर हो चुके हैं।

मोटे-मोटे चश्मों और कॉन्टेक्ट लेंस की मुसीबतों से अब ये नयी तकनीक दिलाएगी छुटकारा

वहीं लोगों के पास ऐसे एप भी है जो उन्हें रिमाइंडर के तौर पर याद कराते हैं जैसे पानी पीने का समय, सोने का समय, खाना का समय आदि। सच कहा जाए तो सोशल मीडिया के आने से लोग ज्यादा से ज्यादा इन पर निर्भर हो गए हैं और अगर ये काम करना बंद कर दें तो इंसान को बेचानी होने लगती है। सोशल मीडिया आउटेज मुझे असहज और बेचैन करता है।" आपको बता दें कि, सोशल मीडिया के बंद होने से बेचैनी तो होती ही है साथ ही कई बार ज्यादा बेचैनी होने की वजह से मौत होने का भी डर रहता है। लेकिन कुछ जरूरी बातों से इन परिस्थितियों से बचा जा सकता है कैसे वो जानने के लिए खबर में पढ़ें।

सोशल मीडिया से दूर रहने के लिए इन उपायों का लें सहारा

  • सोशल मीडिया पर ना बिताएं ज्यादा समय।
  • दोस्तों के साथ बातचीत करने के लिए सोशल मीडिया ना करें इस्तेमाल।
  • घर में परिजनों के साथ भोजन करते वक्त सुचना यंत्रों को छोड़ बातचीत करें।
  • रात में सोते वक्त सोशल मीडिया पर ना दें ज्यादा ध्यान।
  • सोशल मीडिया से ध्यान हटाने के लिए दूसरे कामों पर ध्यान दें।
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.