Friday, Feb 03, 2023
-->
tips to get relief from snoring sosnnt

इन कारणों की वजह से आते हैं खराटे, ऐसे पाएं छुटकारा

  • Updated on 12/5/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सोते वक्त खर्राटे लेना आम सी बात है। हमने कई बार कई लोगों को कई तरीकों से खर्राटे लेते हुए देखा है। लेकिन कई बार इन खर्राटे की आवाज की वजह से आसपास सो रहे लोगों को सोने में दिक्कत भी होती है और वो परेशान है जाते हैं। तो चलिए आज जानते हैं कि आखिर खर्राटे क्यों आते हैं और इन्हें आसान तरीकों से कैसे दूर किया जा सकता है।

 प्रेगनेंसी के बाद ऐसे करें अपना पेट कम

आपको बता दें कि खर्राटे आने के कई कारण हो सकते हैं। सोते वक्त जोर-जोर से खर्राटे लेना एक तरह की बीमारी भी होती जाती है जिसे Obstructive Sleep Apnea कहते हैं। इसके अलावा खर्राटे सोने के तरीके, डर रात तक जागना, शराब का ज्यादा सेवन, तकिये की एलर्जी, मोटापा की वजह से भी आते हैं।

आपने कई बार खर्राटे के दौरान एक अजीबोगरीब करकस जैसी आवाज सुनी होगी। यह आवाज तब निकलती है जब सांस लेने के दौरान हवा का बहाव गले में स्थित ऊतकों में कंपन पैदा करता है। तो अगर आपके खर्राटे दूसरों को कर रहे हैं परेशान तो फॉलो करें या कुछ आसान टिप्स जिससे आप हमेशा के लिए खर्राटों से छुटकारा पा सकते हैं।

नॉर्मल डिलीवरी चाहिए तो ये तीन योगासन जरूर करें

वजन घटाएं
हालांकि कई बार पतले लोग भी जोर-जोर से खर्राटे लेते हैं। लेकिन अगर आपको पहले खर्राटे लेने की आदत नहीं थी और अचानक वजन बढ़ने की वजह से आपको खर्राटे आ रहे हैं तो इसके लिए वजन कम करना फायदेमंद साबित होगा। दरअसल, मोटापा बढ़ने से गर्दन के आसपास की चर्बी भी बढ़ जाती है, जिस वजह से खर्राटे लेने की समस्या पैदा हो जाती है।

शराब से दूरी बनाए रखें
अगर सोने से 4 से 5 घंटे पहले आप शराब पीते हैं तो आपको खर्राटे आ सकते हैं क्योंकि शराब गले की मांसपेशियों को संकुचित कर देता है। यही वजह है कि जिन लोगों को खर्राटे लेने की आदत नहीं होती है, उन्हें भी खराटे आने लगते हैं।

तकिया बदलें
यह काफी कम लोगों को पता है कि तकिए की वजह से भी आपको खराटे की समस्या हो सकती है। आपके तकिए में जमी धूल की वजह से आपको खराटे आते सकते हैं। इसके लिए आपको हर छह महीने पर अपना तकिया बदलना चाहिए और हर 2 हफ्ते पर अपने तकिए का कवर भी बदलते रहना चाहिए। 

सर्दियों में अपने Dry Lips को ऐसे रखें नर्म, अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

सोने का तरीका बदलें
अगर आप पीठ के बल सोते हैं तो आपको खराटे आएंगे वहीं अगर आप सीधे की तरफ से सोते है तो खराटे नहीं आएंगे। पीठ के बल सोने पर जीभ और तालू (palate) वायुमार्ग को संकुचित करते हैं और इसकी वजह से नींद के दौरान कंपन की आवाज पैदा होती है. साइड की तरफ सोने से इसे रोकने में मदद मिलती है।

सही समय पर सोएं
अगर आप देर रात तक किसी कारणवश सोते हैं तो आपको खर्राटें जरूर आएंगे क्योंकि आपका शरीर बहुत थक जाता है और इस वजह से नींद भी गहरी आती है। ऐसे में मांसपेशियां संकुचित होती हैं और खर्राटे आने लगते हैं।

यहां पढ़ें लाइफस्टाइल से जुड़ी 10 बड़ी खबरें 

प्रेगनेंसी के बाद ऐसे करें अपना पेट कम

नॉर्मल डिलीवरी चाहिए तो ये तीन योगासन जरूर करें 

सर्दियों में अपने Dry Lips को ऐसे रखें नर्म, अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

शादीशुदा व्यक्ति को डेट करने से पहले जान लें इसका परिणाम

ठंड में अमरूद का सेवन करने से ठीक हो जाएगी बवासीर, जानें और भी फायदें​​​​​​​

इन कारणों से Single लोग रहते हैं ज्यादा स्वस्थ और खुश​​​​​​​

सर्दियों में खांसी-जुकाम से हैं परेशान तो अपनाएं ये रामबाण घरेलू नुस्खे 

अगर आप मोटापे से हैं परेशान तो Follow करें ये 3 फार्मूले वाली डाइट​​​​​​​

Hair Care: अगर आप बाल झड़ने से हैं परेशान तो अपनाएं ये 5 घरेलू उपाय​​​​​​​

अगर मोटापे से चाहते हैं छुटकारा तो नाश्ते के टेबल से हटा दें ये 4 खाने की चीजें

 

comments

.
.
.
.
.