15 thousand scooty new motor vehicle act  traffic police challan dinesh madaan

15 हजार की स्कूटी का कटा 23 हजार का चालान, मालिक सोच रहा है क्या करे !

  • Updated on 9/3/2019

नई दिल्ली/ टीमडिजिटल। हाल में सरकार ने ट्रैफिक कानून तोड़ने वालों पर नकेल कसने के लिए पुराने कानून में संशोधन किया है। इसके तहत नए कानून में जुर्माने की राशि में भारी भरकम बढ़ोत्तरी की गयी है, जिसके कारण लोगों में काफी नाराजगी देखने को मिल रही है। उन्हीं में से एक हैं दिल्ली की गीता कॉलोनी में रहने वाले दिनेश मदान (Dinesh madan) जो कि गुड़गाव कोर्ट में काम करते हैं। उनका कहना है कि पुलिस ने यातायात नियम तोड़ने के कारण उन पर 23 हजार का जुर्माना लगा दिया है जबकि उनकी स्कूटी की कुल कीमत ही 15 हजार रुपए है।

जंगलों में घास खाते दिखा शेर, लोगों ने कहा, क्या ये नार्मल है, देखें Video

क्या है पूरा मामला
बता दें कि दिल्ली की गीता कॉलोनी में रहने वाले दिनेश मदान सोमवार को किसी काम से अपनी स्कूटी से जा रहे थे जिसके बाद ट्रैफिक पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और उन्हें दस्तावेज दिखाने को कहा चूंकि उस समय मदान के पास कोई भी दस्तावेज नहीं था तो उन्होंने बाद में दस्तावेज मुहैया कराने को कहा लेकिन पुलिस ने तब तक उनका चालान काट दिया। 

पक्षी या फिर खरगोश आखिर क्या है ये जानवर, यहां करें पता

इन धाराओं में किया जुर्माना 
गौरतलब है कि पुलिस ने मोटर व्हीकल एक्ट 1988 सेक्शन 213(5) (e) की विभिन्न धाराओं के तहत, बिना हेल्मेट के 1 हजार रुपए, बिना ड्राइविंग लाइसेंस के 5000 रुपए तो वही बिना इंश्योरेंस के 2000 रुपए और बिना रजिस्ट्रेशन के 5000 रुपए और एयर पॉल्यूशन एनओसी न होने पर 10,000 का चालान किया गया और इस तरह से यह कुल 23,000 रुपए हो गया।

संकट से जूझ रहे IDBI बैंक के लिए सरकार ने उठाया बड़ा कदम, देगी 9,296 करोड़

अब दिनेश निर्णय नहीं ले पा रहा है कि क्या करे  
बता दें कि इतनी बड़ी राशि चूंकि उस समय दिनेश के पास नहीं थी इसलिए पुलिस ने उनकी गाड़ी को ही जब्त कर लिया। अब दिनेश इतनी बड़ी रकम को देने से पहले निर्णय नहीं ले पा रहे हैं कि वह 15,000 वाली गाड़ी को 23,000 देकर छुड़ा लें या फिर नई गाड़ी ही खरीद लें। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.