Sunday, Aug 07, 2022
-->
16000-health-workers-have-been-trained-for-vaccination-in-maharashtra-prsgnt

महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन अभियान के लिए 16,000 मेडिकल स्टाफ को किया गया ट्रैन, बनाया ये प्लान

  • Updated on 12/24/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी है उसी बीच कोरोना के दूसरे अटैक का खतरा आ गया है। वहीं कोरोना का वैक्सीन लोगों को लगाया जा रहा है। ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन (Coronavirus new strain) से सबके पास एक ही सवाल है कि कोरोना वैक्सीन क्या इस नए स्ट्रेन से लड़ने में संक्षम है। सिर्फ वैक्सीन पर टिकी हैं। 

इस बीच, महाराष्ट्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने राज्य में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण के बड़े अभियान के लिए 16,000 मेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षित करके शुरुआती चरण का काम पूरा कर लिया गया है और टीका उपलब्ध होने पर इसे लोगों को दो खुराक में दिया जाएगा।       

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन (रूप) को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है और बेहद संक्रामक बताए जाने वाले इस वायरस के स्वरूप का पुणे स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान अध्ययन कर रहा है।    

HC का आदेश- Corona संक्रमण होने के बाद जटिलताओं को सुलझाने के लिए SOP बनाए दिल्ली सरकार

उन्होंने कहा कि कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिए अभी जिन दवाओं का इस्तेमाल हो रहा है, उन्हीं का उपयोग कोरोना वायरस के नए प्रकार पर भी किया जाएगा। टोपे ने कहा कि राज्य सरकार ने उभरती स्थिति से निपटने के वास्ते ब्रिटेन से लौट रहे यात्रियों के लिए अनिवार्य सांस्थानिक पृथकवास समेत शहरों में रात में कर्फ्यू लागू करने जैसे कदम उठाए हैं।       

कोविड-19 का टीका लेने के लिए जो लोग पंजीकरण कराएंगे, उन्हें दो खुराक लेना होगा। भारत बायोटेक और पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने व्यापक स्तर पर टीके के वितरण के लिए अनुमति मांगी है।      

शोध में हुआ खुलासा- Corona Virus के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता कम से कम 8 महीने तक रहती है

मंत्री ने कहा, ‘‘इस संबंध में निर्णय केंद्र सरकार लेगी। जैसे ही अनुमति हासिल होगी, कंपनियों को उनके टीके के वितरण के लिये राज्य आवंटित किये जाएंगे।’’  उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान के लिए महाराष्ट्र में सभी संबंधित जरूरतें पूरी कर ली गई हैं। राज्य कोरोना वायरस से बेहद प्रभावित है, यहां अब तक 19 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।      

महाराष्ट्र सरकार 16,000 चिकित्सार्किमयों को व्यापक स्तर पर टीकाकरण के लिए प्रशिक्षित करके प्रारंभिक चरण का काम पूरा कर चुकी है। टोपे ने कहा, ‘‘जैसे ही केंद्र सरकार से अनुमति मिलती है, वे टीकाकरण अभियान के लिए तैयार हैं। टीके को एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाने, खुराकों को रखने के लिए कोल्ड चेन तैयार कर लिए गए हैं। जहां कहीं भी खामी मिलेगी, केंद्र सरकार ने राज्य को मदद देने का आश्वासन दिया है।’’

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.