Friday, May 14, 2021
-->
22 year old girl hostage rape 8 months rape captivity selling barnala sobhnt

22 साल की लड़की को बंधक बनाकर 8 साल तक होता रहा रेप, बेचने की भी हुई कोशिश

  • Updated on 2/27/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पंजाब (Punjab) के बरनाला (Barnala) से एक महिला के बलात्कार की दिल दहलादेने वाली खबर सामने आ रही है। यह कुछ लोगों ने एक महिला को पिछले 8 महीने से बंधंक बनाकर उसका रेप किया, और अब उसे बेचने भी जा रहे थे। पुलिस ने इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें दो महिला शामिल हैं। इसके अलावा इन लोगों में एक शिरोमणि अकाली दल को नेता भी शामिल है। 

पुलिस ने इसके अलावा पीड़िता का बयान मजस्ट्रेट के सामने दर्ज कराया है। पुलिस ने इससे पहले पीड़िता का मेडिकल चेकअप भी कराया था। पीड़िता ने मांग की है कि उसे और उसके परिवार को पुलिस सुरक्षा मिले। इसके अलावा सभी आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए। इस मामले में पुलिस ने तीन दरोगा को भी सस्पेंड किया है। उन पर आरोप था कि वह आरोपियों के साथ मिलकर लड़की को डरा रहे थे।   

फिर बढ़ने लगा कोरोना! 24 घंटे में 16 हजार से अधिक मामले, महाराष्ट्र में बंद हो सकते हैं सिनेमा हॉल

भाई ने दी पूरी जानकारी
इस पूरे मामले के जानकारी देते हुए लड़की के भाई ने बताया है कि पिछली साल 24 जून 2020 को एक किराए पर रहने वाली महिला उनकी बहन को बहला फुसला कर शिरोमणि अकाली दल के नेता के भाई के घर पर ले गई थी। उस समय वह नेता भी मौजूद था।  उसके अलावा वहां एक तथाकथित बाबा और कुछ महिलाओं  समेत 20-25 लोग मौजूद थे। तभी वहां किसी ने लड़की को कोल्ड ड्रिंक में कुछ मिलाकर पिला दिया। जिससे  वह बेहोश हो गई। जिसके बाद वहां मौजूद सभी ने उसकी बहन के साथ बारी-बारी से रेप किया।  

Guru Ravidas Jayanti 2021: जानें कब और कहां हुआ था जन्म और उनके विचार

8 महीने से रखा गया लापता 
उसके भाई ने बताया कि उसके बाद इन लोगों ने 17 दिन उनकी बहन को बरनाला में रखा और उसके बाद वह उसे जिले के पंधेर गांव में ले गए। बाद में उसकी बहन बठिंडा लाया गया। जहां उसकी जबरजस्ती शादी करा दी गई। वह कहते हैं कि उसकी लड़की की शादी के नाम पर भी 70 हजार रुपए लिए गए थे। वह कहते हैं कि जब वह बरनाला में शिकायत दर्ज कराने गए थे। थानेदार ने उनसे पैसों की मांग की थी। इसके बाद उनका केस दूसरे थानेदार को  दे दिया गया। वह कहते हैं कि उन्होंने एसएसपी से मिलने की भी कोशिश की थी मगर उनसे नहीं मिलने दिया गया । 

क्यो बोली पुलिस
इस पूरे मामले पर बरनाला के डीएसपी लखबीर सिंह टिवाणा ने बताया है कि 10 जुलाई 2020 को एफआईआर नंबर 340 में महिला की मां ने शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें एक उसने एक किराएदार पर महिला पर अपनी बेटी को बहला फुसला कर ले जाने का आरोप लगाया था। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया था। मगर बाद में मजिस्ट्रेट के सामने लड़की ने बताया कि उसे कोई बरगला कर नहीं ले गया। बल्कि वह खुद अपनी मर्जी से गई और उसने शादी भी मर्जी से करने की बात कही। जिसके बाद पुलिस ने केस को वहीं रोक दिया। 

वहीं अब बीती 23 फरवरी को  सूचना मिली की लड़की बरनाला के सरकारी अस्पताल में भर्ती है। जहां मजिस्ट्रेट अपने बयान में बताया कि किस तरह से कुछ लोगों ने उसके साथ अत्याचार किया है। पीड़िता ने 3 थानेदारों पर भी डराने और धमकाने का आरोप लगाया था। जिन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।   
 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.