Thursday, Apr 09, 2020
8 rupees going to be increased in petrol and diesel

कभी भी बढ़ सकती है पैट्रोल-डीजल की कीमतें, 8 रुपए तक की बढ़ोत्तरी मुमकिन

  • Updated on 3/24/2020

नई दिल्ल/ टीम डिजिटल। हालांकि इन दिनों कोरोना वायरस (corona virus) से बचाने के लिए लगभग ज्यादातर जिलों को लॉक डाउन (lock down) किया गया है, जिससे गाड़ियों का चलना काफी कम हो चुका है। जाहिर है आपके पैट्रोल (petrol) के रोजाना का खर्च भी लगभग खत्म हो चुका  होगा। मगर जल्द ही पैट्रोल की कीमतों में भारी उछाल आने की संभावना है। और कीमत भी आठ रुपए तक बढ़ाई जा सकती हैं। दरअसल सरकार ने कानून में संशोधन करते हुए पैट्रो पदार्थों की कीमतों में 8 रुपए तक की बढ़ोत्तरी की अनुमति ले ली है।

कोरोना वायरस: उत्तराखंड सरकार ने किए चार मेडिकल कॉलेज रिजर्व

 आर्थिक पैकेज के लिए सरकार की नजर पैट्रोल की गिरती कीमतों पर
कोरोना की मुसीबत में आर्थिक पैकेज की मांग सिर उठाती जा रही है। ऐसे में सरकार की नजर पैट्रोल की विश्व स्तर पर लगातार गिरती हुई कीमतों पर है। इसमें से अपना मुनाफा छांटने के लिए सरकार ने कानून में पहले से ही संशोधन कर लिया है। इस समय पैट्रोल पर 10 रुपए और एक्साइज ड्यूटी लगती है। ये लिमिट इस बढ़ोत्तरी के बाद पैट्रोल पर 18 रुपए और डीजल पर 12 रुपए हो जाएगी। इसी के साथ पैट्रोल 8 रुपए और महंगा हो जाएगा। फिलहाल कच्चे तेल की कीमतें इतनी कम हैं कि उपभोक्ताओं की जेब पर भी कोई खास असर नहीं पड़ेगा। गौरतलब है कि 14 तारीख को ही सरकार पैट्रोल पर 2 रुपए दाम बढ़ा चुकी है। मगर इसके साथ उसकी एक्साइज ड्यूटी की लिमिट भी ओवर हो गई।

Corona: जानें धरती के भगवान ने क्यों लिखा गृह मंत्री अमित शाह को पत्र और मांगी सुरक्षा?

...तो इसलिए करना पड़ा कानून में संशोधन
पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी को बढ़ाने की नौबत इसलिए आई क्योंकि पहले से ही ड्यूटी की अधिकतम सीमा पर सरकार पहुंच चुकी  है। वित्त विधेयक की 8वीं अनुसूची में संशोधन के बाद इसे बढ़ाया गया है। अब कुछ ही वक्त के अंदर सरकार इस कानून का इस्तेमाल करते हुए राहत पैकेज देने के लिए फंड रेजिंग कर सकती है। जाहिर है कोरोना से तबाह होते हुए उद्योगों को फिलहाल सस्ते पैट्रोल से कहीं ज्यादा राहत पैकेज की दरकार है।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दुनिया के पास हैं इन दवाओं के विकल्प

जल्द आर्थिक पैकेज नहीं मिला तो तबाह हो जाएंगे कारोबार
कोरोना के कारण कारोबार ठप्प होते जा रहे हैं और लोगों को अपनी संपत्ति का किराया निकालना और उस पर ब्याज देने तक के लिए पैसे नहीं बचे हैं। मंगलवार को वित्त मंत्री ने कुछ राहत का ऐलान किया मगर अभी वो ऊंट के मुंह में जीरा हैं। कारोबारियों को बचाने के लिए आर्थिक पैकेज की जरुरत है और सरकार को पैट्रो पदार्थों की शक्ल में इसका आसान सा रास्ता नजर आ रहा है।

कोरोना से जुड़ी दस बड़ी खबरें यहां देखें 

कोरोना वायरस: जनता कर्फ्यू के बीच थाली-ताली मुहिम सोशल मीडिया पर वायरल, उठे सवाल

केजरीवाल सरकार ने मोदी सरकार की आयुष्मान योजना को दी मंजूरी, खेला बड़ा दांव

कोरोना वायरस: अंबानी, बच्चन ने भी परिवार संग बजाई थाली-ताली-घंटियां, Watch Video

कोरोना वायरस पर मोदी सरकार के कदमों से खुश नहीं है कांग्रेस, दागे सवाल

कोरोना कहर के बीच भी जारी है अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य

कोरोना ने लगाई खाने-पीने की चीजों के दामों में आग, सब्जी मंडियों में जुटे लोग

कोरोना कहर में भी जारी है राम मंदिर निर्माण कार्य, चांदी से सिंहासन तैयार

शाहीन बाग खाली कराने पर कपिल मिश्रा की खिलीं बांछें, किया ये कटाक्ष

कोरोना कहर के बीच दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग प्रदर्शनस्थल को कराया खाली

कोरोना वायरस का कहर जारी, ग्रेटर नोएडा यमुना एक्सप्रेस-वे बंद

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.