Monday, Nov 28, 2022
-->
aap workers  fight to free farmers from unemployment, inflation, hunger, crisis: Sanjay Singh

आप कार्यकर्ता बेरोजगारी, महंगाई, भुखमरी, किसानों को संकट से आजाद करने के लिए संघर्ष करें: संजय सिंह

  • Updated on 9/28/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र सरकार महंगाई, बेरोजगारी को दूर करने के बजाय साजिश रचने, गंदी राजनीति करने में अपना समय बर्बाद कर रही है। विजय नायर की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यह आरोप आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने लगाए और कहा कि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को इसलिए गिरफ्तार किया जा रहा है क्योंकि दिल्ली, पंजाब जीतने के बाद हम अब गुजरात जीत रहे हैं। उन्होने दावा किया कि भाजपा का सिर्फ एक ही लक्ष्य है सीएम अरविंद केजरीवाल और आप की बढ़ती लोकप्रियता को कुचलो। 
   संजय सिंह ने पूरे देश के कार्यकर्ताओं से अपील की है कि आप कार्यकर्ता बेरोजगारी, महंगाई, भुखमरी और किसानों को संकट की समस्या से आजाद कराने के लिए संघर्ष करें। उन्होंने कहा कि भारत की आजादी के लिए 23 साल की उम्र में अपने प्राणों आहुति देने वाले महान क्रांतिकारी शहीद-ए-आजम भगत सिंह की आज जयंती है। आप कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि शहीद ए आजम भगत सिंह ने जेल की सजा काट कर हंसते-हंसते फांसी के फंदे को चूम कर देश को आजाद कराया। आज वक्त आ गया है कि पूरे देश का आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता बेरोजगारी, महंगाई, भुखमरी और  किसानों के संकट की समस्या से आजाद कराने के लिए संघर्ष करें। 
     आप विधायक आतिशी ने भी हमला बोला और कहा कि आप की गुजरात में बढ़ती लोकप्रियता के चलते सीबीआई ने विजय नायर को गिरफ्तार किया है क्योंकि वह गुजरात के कम्युनिकेशन इंचार्ज हैं, आखिरकार उनका एक्साइज पॉलिसी से क्या लेनादेना। दिल्ली, पंजाब में चुनाव के दौरान विजय नायर मीडिया और सोशल मीडिया देख रहे थे, अब गुजरात में चुनाव की तैयारी में लगे हुए थे। गुजरात में अरविंद केजरीवाल की बात घर-घर, हर व्यक्ति तक कैसे पहुंचे, उसके लिए विजय नायर काम कर रहे थे। विजय नायर को सीबीआई 5 दिनों से पूछताछ कर धमका रही थी कि मनीष सिसोदिया का नाम ले लो, वरना तुम्हें गिरफ्तार कर लेंगे सीबीआई का मकसद मनीष सिसोदिया का नाम कहलवाकर गुजरात चुनाव से पहले उन्हें गिरफ्तार करना है। वहीं आप प्रवक्ता ने भी आरोप लगाए कि गुजरात की लोकप्रियता से डरी भाजपा ने यह गिरफ्तारी करवाई है। 
 

comments

.
.
.
.
.