Monday, May 23, 2022
-->
after-becoming-a-train-manager-the-demand-for-increasing-the-pay-scale-intensified

ट्रेन मैनेजर बनने के बाद पे स्केल बढ़ाने की मांग हुई तेज 

  • Updated on 1/15/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। ट्रेन गार्ड अब ट्रेन मैनेजर कहे जाएंगे। पदनाम बदले जाने की वर्षों पुरानी मांग को रेल मंत्रालय द्वारा पूरा किए जाने के बाद अब रेलवे कर्मचारियों ने आभार जताते हुए वेतन भतों में वृद्धि पर विचार का आग्रह किया है। रेलवे के नए आदेश के बाद गार्ड्स टे्रन मैनेजर तो बन गए लेकिन वेतन भत्तों पर इस आदेश का कोई असर नहीं होगा। 
     बता दें कि रेलवे में करीबन 46 हजार गार्ड हैं और वे पिछले कई वर्षों से पदनाम बदलने की जोरदार मांग कर रहे थे। यह आदेश आने के बाद एआईआरएफ के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने कहा कि हम लंबे समय से लगातार प्रयास कर रहे थे और इसके बाद आखिरकार पदनाम में बदलाव का आदेश जारी किया गया है। इस आदेश से देश भर के गार्ड्स काफी खुश हैं। 
    उन्होने कहा कि अब सरकार से आग्रह है कि वह अभी 2800 वेतनमान को बढ़ाकर एंट्री स्केल 4200 किया जाए। वहीं  4600 पे स्केल तक इनकी पदोन्नति होनी चाहिए ताकि ये पूरे उत्साह के साथ काम कर सकें। रेलवे यूनियन के नेता जेपी मिश्रा कहते हैं कि क्लर्क, टेक्रीशियन सहित कई पदों पर बैठे लोग 4600 तक सेवानिवृत्त होते हैं लेकिन गार्ड इस सूची में नहीं आ पाते हैं। इसलिए यह मांग बहुत जायज है कि टे्रन मैनेजर भी 4600 रूपए का पेस्केल किया जाए। 


पेस्केल-अभी पदनाम- नया नाम 
1900-सहायक गार्ड-सहायक पैसेंजर ट्रेन मैनेजर 
2800-गुडस गार्ड- गुड्स ट्रेन मैनेजर 
4200-सीनियर गुड्स गार्ड-सीनियर गुड्स ट्रेन मैनेजर  
4200-सीनियर पैसेंजर गार्ड-सीनियर पैसेंजर ट्रेन मैनेजर 
4200-मेल/एक्सप्रेस गार्ड- मेल/एक्सप्रेस ट्रेन मैनेजर
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.