Wednesday, Apr 25, 2018

7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के बाद रियल स्टेट की होगी बल्लेे-बल्ले!

  • Updated on 6/30/2016

नई दिल्ली (टीम डिजिटल)। रियल एस्टेट उद्योगों के संगठनों का मानना है कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के क्रियान्वयन के बाद घरों की बिक्री में सुधार होगा।

उनका कहना है कि पिछले कुछ साल के दौरान प्रॉपर्टी बाजार में सुस्ती की वजह से घरों के दाम घटे हैं। रीयल्टी कंपनियों के दो प्रमुख संगठनों क्रेडाई तथा नारेडको ने कहा कि इस क्षेत्र को माडल कानून की मंजूरी से भी फायदा होगा। इस कानून के तहत दुकान, मॉल और सिनेमा हॉल 24 घंटे सातों दिन खुले रह सकते हैं। 

जानिए, सातवें वेतन आयोग पर क्या है लोगों की प्रतिक्रिया

नारेडको के चेयरमैन राजीव तलवार ने कहा कि यह काफी अच्छा फैसला है। इससे सरकारी कर्मचारी सोच समझकर मकान की खरीद करेंगे। के्रडाई के अध्यक्ष गीतांबर आनंद ने कहा कि रीयल एस्टेट के दाम निचले स्तर पर हैं। सोना और शेयर बाजार उपर चढ़े हुए हैं। ऐसे में हम उम्मीद करते हैं कि रीयल एस्टेट क्षेत्र में निवेश आएगा।

प्रापर्टी सलाहकार सीबीआरई के दक्षिण एशिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अंशुमान मैगजीन ने कहा कि यह सकारात्मक कदम है। इससे ई-कामर्स, संगठित खुदरा क्षेत्र और कुल सेवा उद्योग को फायदा होगा। 

वेतन आयोग : नाराज कर्मचारी 11 जुलाई को बुला सकते हैं देश की सबसे बड़ी हड़ताल

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें…एंड्रॉएड ऐप के लिए यहांक्लिक करें.

comments

.
.
.
.
.