Saturday, Apr 17, 2021
-->
agriculture bill rajyasabha pm narendra modi msp president speech sobhnt

कृषि कानूनों पर बोले PM, प्रदर्शन खत्म कीजिए हम बैठकर बात करेंगे

  • Updated on 2/8/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में कृषि कानूनों (Agriculture bill) के खिलाफ आंदोलन चल रहा है। सरकार ने अपनी तरफ से कई दौर की वार्ता करन के बाद किसानों के मुद्दे को सुलझा नहीं पाए हैं। ऐसे में आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद स्वयं प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के सामने अपनी बात रखी है। प्रधानमंत्री मोदी ने सभी किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील करते हुए कहा है कि कृषि सुधार होने दीजिए यह देश के लिए जरुरी हैं। इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा है कि देश में MSP थी, MSP है और MSP रहेगी।  

चमोली त्रासदी: जानिए क्यों टूटते हैं ग्लेशियर, जिससे मचती है भारी तबाही 

आंदोलन को खत्म करें 
देश में कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन चल रहा है। सरकार ने अपनी तरफ से कई दौर की वार्ता करन के बाद किसानों के मुद्दे को सुलझा नहीं पाए हैं। ऐसे में आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद स्वयं प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के सामने अपनी बात रखी है। प्रधानमंत्री मोदी ने सभी किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील करते हुए कहा है कि कृषि सुधार होने दीजिए यह देश के लिए जरुरी हैं। इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा है कि देश में MSP थी, MSP है और MSP रहेगी। 

जम्मू-कश्मीर में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर इतनी रही तीव्रता

मनमोहन सिंह का किया जिक्र
बता दें प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का जिक्र करते हुए कहा है कि वह भी यही चाहते थे कि भारत के किसानों को उपज बेचने की आजादी मिले और भारत को एक कृषि मार्केट बनाया जाए।  वह कहते हैं मगर पता नहीं क्यों अब कांग्रेस और विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं। वह कहते हैं कि उन्हें समझ में आते है कि आपको राजनीति करनी है तो करो मगर किसान को यह मत बोले कि कानून में कोई कमी है। वह कहते हैं कि यह किसान सुधार में एक बड़ा काम करेंगे। पीएम मोदी लाल बहादुर शास्त्री का भी जिक्र करते हुए कहते हैं कि वह भी कृषि सुधार के दौरान भारी विरोध का सामना करना पड़ा था।  

Uttarakhand Glacier Burst: 155 लोगों के हताहत होने की आशंका, रेड अलर्ट, अब तक 8 शव बरामद

लाल बहादुर शास्त्री की बात की
लेफ्ट उस समय कांग्रेस को अमेरिका का एजेंट बताता था। आज हमें भी किसान विरोधी बोला जा रहा है। वह कहते हैं कि शरद पवार और कांग्रेस ने हमेशा किसान सुधार की बात की है। मनमोहन सिंह भी कृषि सुधार के पक्ष में थे। वो किस कारण नहीं कर पाए उस चर्चा में नहीं जाते हैं मगर आज मेरी सरकार कर रही है तो कम से कम उसका समर्थन तो कर ही सकते हैं। 

राष्ट्रपति बिडेन का बड़ा ऐलान, अमेरिका में अब किसी को नहीं मिलेगा मृत्युदंड

नहीं बताया किस बात को लेकर आंदोलन है
पीएम मोदी विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि सदन में जो भी चर्चा हुई वह किसान आंदोलन की हुई मगर किसी ने यह नहीं बताया कि किस बात को लेकर आंदोलन है। आंदोलन क्यों किया जा रहा है। वह कहते हैं कि मैं कह रहा है कि एमएसपी न कभी खत्म हुई है और नही कभी एमएसपी खत्म होगी। वह कहते हैं कि देश के 12 करोड़ छोटे किसानों के बारे में सोचिए, क्या हमें इनके बारे में कुछ नहीं करना चाहिए।    
 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.