Thursday, Aug 18, 2022
-->
agriculture bill singhu border firing sobhnt

किसान आंदोलन के दौरान कार युवकों ने की 3 गोली फायर, सिंघू बॉर्डर की है घटना

  • Updated on 3/8/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  कृषि कानूनों (Agriculture bill) के विरोध में दिल्ली की सभी सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन चल रहा है। ऐसे में सोमवार को प्रदर्शन के 102 वें दिन सिंघू बॉर्डर पर किसानों के चल रहे लंगर के दौरान कुछ युवक पंजाब नंबर की कार से आए और लंगर में लोगों से ठण्डा पानी मांगने लगे। इसी बीच उन्होंने लोगों को धमकाते हुए 3 राउण्ड फायरिंग कर दी। जिसके बाद वह लोग वहां से भाग गए। गोली के आवाज सुनकर वहां अन्य किसान और अलर्ट हो गए और घटना स्थल पर जुटने लगे। जिसके बाद सभी ने पुलिस का सूचना दी। 

पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के बड़े भाई का 104 वर्ष की उम्र में निधन, रामेश्वरम में ली अंतिम

कार सवारों ने की फायरिंग 
बता दें घटना करीब रात 2 बजे की है। जब चार युवक एक पंजाब नंबर से गाड़ी से आए और खुद को पंजाब का रहने वाला बताकर वहां फायरिंग शुरु कर दी। किसानों का कहना है कि इस तरह की चीजें जानबूझकर पंजाब और हरियाणा का भाईचारा बिगाड़ने के लिए किया जा रहा है।  किसानों ने इन लोगों का पता लगाने की मांग की है। बता दें सूचना मिलते ही कुण्डली थाना प्रभारी रवि कुमार मौके पर पहुंचे हैं। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि आरोपी कौन थे। किसानों ने भी पुलिस को चेतावनी दी है कि वह अगर आरोपियों का पता नहीं लगाती तो वह दिल्ली को जाम कर देंगे।  

भाजपा में शामिल होते ही मिथुन चक्रवर्ती ने दिखाए तेवर, बोले- मैं एक कोबरा हूं...

सोनीपत सीआईए को लगाया फोन
पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांत के लिए सोनीपत सीआईए की टीम को भी फोन लागाया है। दूसरी ओर किसानों के नेता हरमीत कादिया और मनजीच राय ने भी किसानों के मामले में पुलिस को चेतावनी दी कि अगर पुलिस उन पर कार्यावाही करती है। तो वह लोग दिल्ली में जाम लगा देंगे। इसके अलावा बॉर्डर के पर पुलिस पर भी दो बार हमला हो चुका है।    

भाजपा में शामिल होते ही मिथुन चक्रवर्ती ने दिखाए तेवर, बोले- मैं एक कोबरा हूं... 

दिल्ली को जाम करने की दी चेतावनी
किसानों का आरोप है कि यह सब जानबूझकर कराया जा रहा है। ऐसा करने वाले असमाजिक तत्वों को लक्ष्य है कि कैसे भी हरियाणा और पंजाब के लोगों के बीच भाईचारा खत्म करना और हिंसा कराना ताकि इसी बहाने किसान आंदोलन को भी खत्म किया जा सके। वह कहते हैं कि हम मांग कर रहे हैं कि पुलिस साजिशकर्ताओं को पता लगाए। नहीं तो वह लोग दिल्ली को जाम कर देंगे और वहां प्रद्रर्शन करेंगे।  

 


ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.