Thursday, Feb 25, 2021
-->
agriculture protest asaduddin owaise hyderabad sobhnt

ओवैसी बोले, गरीबों-किसानों से सस्ती बिजली का हक छीनना चाहती है सरकार

  • Updated on 12/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून के साथ-साथ बिजली कानून में प्रस्तावित संशोधन का विरोध कर रहे हैं। इस बिल का किसानों के साथ-साथ देश का पूरा विपक्ष कृषि बिल का विरोध कर रहा है। इसी बीच हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने किसानों के समर्थन में ट्वीट किया है। 

राजधानी में कोविड-19 के नए स्ट्रेन का खतरा, लंदन से दिल्ली लौटे विमान में मिले पांच संक्रमित

बड़े कारोबारियों की तरह भुगतान करे
उन्होंने कहा है कि मौजूदा वक्त में गरीब परिवार रियायती दरों पर भुगतान कर रहे हैं और इसकी लागत की वसूली औद्योगिक/वाणिज्यिक उपयोक्ताओं से की जा रही है। अब बीजेपी चाहती है कि किसान, गरीब लोग और अन्य घरेलू उपयोक्ता भी बड़े कारोबारियों की तरह ही भुगतान करें।  

राजधानी में कोविड-19 के नए स्ट्रेन का खतरा, लंदन से दिल्ली लौटे विमान में मिले पांच संक्रमित 

नौ दिसंबर की वार्ता हुई रद्द
 सरकार द्वारा आंदोलनरत किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ कई दौर की वार्ता की गई। किसानों और केंद्र सरकार के बीच पांचवें दौर की बातचीत के बाद नौ दिसंबर को वार्ता स्थगित हो गई थी क्योंकि किसान यूनियनों ने कानूनों में संशोधन तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी रखने का लिखित आश्वासन दिए जाने के केंद्र के प्रस्ताव को मानने से इनकार कर दिया था। दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान कड़ाके की सर्दी में पिछले लगभग चार सप्ताह से प्रदर्शन कर रहे हैं और नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं। इनमें ज्यादातर किसान पंजाब और हरियाणा से हैं।  

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.