Saturday, Dec 04, 2021
-->
asaduddin-owaisi-union-minister-prakash-javadekar-babri-masjid-ram-temple-prsgnt

विवादित ढांचे पर जावड़ेकर के 'गलती को किया गया ठीक' बयान पर भड़के ओवैसी कहा- बेहद शर्मनाक

  • Updated on 1/25/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली भाजपा कार्यालय (Delhi BJP Office) में रविवार को राम मंदिर निर्माण में बड़ी राशि देने वाले लोगों को सम्मानित करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजिन किया गया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने बोलते हुए कहा कि अयोध्या में बनने जा रहा राम मंदिर देश की एकता का मंदिर है और इसका विभिन्न धर्मों के लोगों ने समर्थन किया है।

जावड़ेकर ने कार्यक्रम में कहा कि ‘राम जन्मभूमि आंदोलन’ देश के स्वाभिमान का आंदोलन था। उन्होंने कहा, ‘‘राम जन्मभूमि पर बन रहा राम मंदिर देश की एकता का मंदिर है।  राम देश को एकजुट करते हैं और देश की एकता के प्रतीक हैं।’’

जहां इबादत नहीं वो मस्जिद....
उन्होंने कहा, देश में लाखों मंदिर हैं परन्तु उन्हें (विदेशी आक्रमणकारी) समझ आया कि इस देश का प्राण राम मंदिर में है, राम मंदिर पर आक्रमण होकर वहां एक विवादित ढांचा बनाया गया। वो मस्जिद नहीं थी क्योंकि जहां इबादत नहीं होती वो मस्जिद नहीं होती। 

उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर 1992 को कारसेवक के रूप में हम भी अयोध्या में मौजूद थे।  हम एक रात पहले वहां सोए हुए थे। बाबरी मस्जिद के तीन गुंबद दिख रहे थे। अगले दिन दुनिया ने देखा कि किस तरह से ऐतिहासिक भूल को ठीक कर दिया गया। आज अयोध्या में बनने जा रहा भव्य राम मंदिर देश की एकता का मंदिर है। जावड़ेकर ने आगे कहा कि राम देश को एकजुट करते हैं। इसे विभिन्न धर्मों के लोग राम मंदिर का समर्थन कर रहे हैं। 

गठबंधन में धोखाधड़ी! नीतीश ने कहा- कर्पूरी ठाकुर की तरह मुझे भी CM पद से हटा सकते हैं

लोगों को किया सम्मानित
बता दें, इस कार्यक्रम में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निधि समर्पण अभियान में दान देने वाले लोगों को सम्मानित किया गया था। इसी कार्यक्रम में जावड़ेकर शामिल हुए थे।  उन्होंने देशवासियों से अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए श्रद्धानुसार दान देने का आग्रह किया। इस मौके पर उन्होंने कहा, 'राम मंदिर निर्माण के लिए लोग खुशी से दान देंगे। हमें हर घर पहुंचना है। लोग 10 रुपये से लेकर 10 करोड़ रुपये तक दे रहे हैं। 

ओवैसी भड़के 
जावड़ेकर के इस बयान पर उन्हें आड़े हाथ लेते हुए इसे शर्मनाक बताया और ट्वीट करते हुए कहा, ओवैसी ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट कह चुकी है कि इसका कोई सबूत नहीं है कि मंदिर को गिराया गया था। यह भी कहा था कि मस्जिद का विध्वंस कानून का उल्लंघन था। सीबीआई अदालत कह चुकी है कि बाबरी मस्जिद को गिराने में किसी साजिश का कोई सबूत नहीं है। इतने गर्व के साथ आपने इसे अदालत में स्वीकार क्यों नहीं किया। शर्मनाक। 

पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.