Thursday, Apr 02, 2020
ashutosh praised modi over trump on the decision to fight corona

तीन हफ्तों के लॉक डाऊन के फैसले से धुर विरोधी आशुतोष भी बने मोदी के मुरीद, ‘हम खुशकिस्मत हैं कि मोदी

  • Updated on 3/26/2020

नई दिल्ली /टीम डिजिटल। पीएम मोदी (narendra modi) ने भारत को कोरोना (corona) के वायरस से बचाने के लिए 21 दिनों के लिए लॉक डाऊन कर दिया है, मगर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (donald trump) ने दोटूक कहा है कि उनका देश बंद होने के लिए नहीं बना है। इसके बाद से अमेरिका में ट्रम्प का विरोध शुरु हो गया है वहीं  मोदी और ट्रम्प के अलग-अलग रास्तों के पीछे वजह तलाशी जा रही हैं। मोदी के धुर विरोधी और एक दौर में आम आदमी पार्टी के आशुतोष ने भी इस कदम में मोदी को भारत को बचाने वाला मान लिया है।

लॉकडाउन के दूसरे दिन झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्‍स में 1474 अंकों का उछाल

मोदी ने गरीबी देखी है इसलिए वो भारत को बेहतर समझते हैं
पूर्व पत्रकार से आम आदमी पार्टी के चोटी के नेता बने और अब दोबारा पत्रकारिता में आए आशुतोष लगभग शुरु से ही पीएम मोदी की मुखालफत करते रहे हैं। मगर मोदी के 21 दिनों के लिए लॉक डाऊन करने के ऐलान के बाद आशुतोष ने मोदी की तारीफों के पुल बांधने शुरु कर दिए।

कोरोना का एयर इंडिया पर कहर, रोजाना 30-35 करोड़ का हो रहा नुकसान

अर्थव्यवस्था के खतरे को जान के खतरे से ज्यादा मानते हैं ट्रम्प
अपने ब्लॉग में आशुतोष ने लिखा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प के पास शुरु से ही अमेरिका के सबसे अमीर लोगों में से रहे हैं इसलिए वो अभी अर्थव्यवस्था के संकट को कोरोना से बड़ा मान रहे हैं। मगर उनकी ये सोच अमेरिका के लिए जानलेवा साबित होने जा रही है। आशुतोष ने दोटूक लिखा कि हम खुशकिस्मत हैं कि मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं।

वैज्ञानिकों का दावा- 3 सप्ताह का लॉकडाउन पूरी तरह से रोक सकता है कोरोना संक्रमण

कोरोना का अगला केंद्र बनने जा रहा है अमेरिका WHO
मोदी और ट्रम्प के फैसलों में अंतर करते हुए आशुतोष दो टूक कहते हैं कि ‘गरीबी में पले मोदी को गरीबों की दिक्कतों का सही अंदाजा है। वो देश के नुकसान से ज्यादा जिंदगी के नुकसान की कीमत समझते हैं।‘ वहीं ट्रम्प को ‘डॉलर की चमक आम अमेरिकी की ज़िंदगी से अधिक खनकदार लग रही है।‘ गौरतलब है कि खुद WHO भी अमेरिका को कोरोना का अगला केंद्र मानने लगा है।

भारत में लॉकडाउन का दूसरा दिन Live: जरुरी समान लेने के लिए सड़क पर निकले इक्का दुक्का लोग

कोरोना के 40 प्रतिशत मामले सिर्फ न्यूयॉर्क में
कोरोना के पॉजिटिव केस के 40% मामले न्यूयॉर्क में हैं। ट्रम्प के मुकाबले मोदी के सख्त कदमों का स्वागत करते हुए कहा कि फिलहाल देश को पूरी तरह लॉक डाऊन करना और इसका कड़ाई से पालन करना बेहद जरुरी है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

क्या है कोरोना वायरस? जानें, बीमारी के कारण, लक्षण व समाधान

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास 

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

मिल गया Coronavirus का इलाज! जल्द ठीक हो सकेंगे सभी संक्रमित 

लॉक डाऊन है तो फिक्र क्या, बैंक कराएंगे आपके पैसे की होम डिलीवरी

comments

.
.
.
.
.