Friday, Jan 28, 2022
-->
Bank employees should be given priority in booster dose like frontline workers

बैंंक कर्मचारियों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की तरह दी जाए बूस्टर डोज में प्राथमिकता

  • Updated on 1/13/2022

नई दिल्ली/अनिल सागर । पूरे देश में कोरोना महामारी तीसरी लहर के चलते बड़ी संख्या में  बैंक कर्मचारी भी प्रभावित हो रहे हैं। कई शहरों में बैंकों में पूरी की पूरी ब्रांच कोरोना संक्रमित हो रही हैं। हजारों की संख्या में बैंक कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं। इसलिए बैंक कर्मचारियों के कार्य के महत्व को देखते हुए उन्हें भी फ्रंटलाइन वर्कर्स की तरह बूस्टर डोज में प्राथमिकता दी जाए। 
       यह मांग तेज करते हुए बैंक कर्मियों का कहना है कि एक और प्रदेश सरकारें प्राइवेट और सरकारी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम को लागू कर रही हैं, तो दूसरी ओर बैंक कर्मचारी बैंकों में जाने को मजबूर हैं। इसे देखते हुए सरकार को बैंक कर्मचारियों को भी फ्रंटलाइन वर्कर्स की तरह बूस्टर डोज  में प्राथमिकता देने का ऐलान करना चाहिए। 
          वॉएस ऑफ बैंकिंग के संस्थापक अश्वनी राणा ने कहा कि इंडियन बैंक्स एसोसिएशन द्वारा जारी निर्देशों का राज्य स्तरीय बैंकिंग समितियों द्वारा ठीक तरह से पालन कराया जाए। कई राज्य स्तरीय बैंकिंग समितियों ने अभी भी अपने राज्य में बैंकिंग के समय को सीमित नहीं किया है। बैंक प्रबंधन द्वारा जारी किए गए निर्देशों का शाखा स्तर पर ठीक तरह से पालन कराया जाए। पूरी ब्रांच संक्रमित होने के बाद भी ब्रांच को बंद नहीं किया जा रहा है। 
       उन्होने कहा कि  कई बैंकों के प्रबंधन द्वारा कोरोना संक्रमित कर्मचारियों के साथ ठीक तरह से व्यवहार नहीं किया जा रहा है और उन पर बैंक आने का दबाव बनाया जाता है। सरकारए इंडियन बैंक्स एसोसिएशन, बैंक प्रबंधन को बैंक कर्मचारियों के प्रति संवदेनशीलता दिखाई जानी चाहिए। आल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन के सुनील बंसल कहते हैं कि वित्त मंत्री, दिल्ली के उपराज्यपाल, मुख्यमंत्री से भी बैंक कर्मियों, अधिकारियों को कोरोना के दौरान राहत की मांग की है। 

comments

.
.
.
.
.