Tuesday, Sep 28, 2021
-->
Bharat Biotech Covaxin krishna Ella Covaxin hyderabad sobhnt

भारत बायोटेक का बड़ा ऐलान, पूरे देशमें टीके की 4 केंद्र करेंगे स्थापित

  • Updated on 1/4/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। स्वदेशी वैक्सीन बनाने वाली भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के एमडी कृष्णा एला (Krishna Ella) ने आज ऐलान किया है कि वह देश में चार टीका उत्पादन केंद्रों की स्थापना कर रही है जिनकी पूरी उत्पादन क्षमता 70 करोड़ खुराक प्रतिवर्ष होगी। भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) को औषधि नियामक द्वारा आपात इस्तेमाल की अनुमति मिली है। भारत बायोटेक के चेयरमैन कृष्णा एल्ला ने इस आरोप से इनकार किया कि शहर में स्थित टीका निर्माता के पास कोवैक्सीन के आंकड़ों की कमी है। उन्होंने कहा कि पहले ही पर्याप्त आंकड़े सामने आ चुके हैं और यह इंटरनेट पर उपलब्ध हैं। 

Pak में हजारा शिया समुदाय का ‘नरसंहार’ करा रही सेना! 11 हत्याओं के बाद PM Modi से लगाई गुहार

70 करोड़ खुराक की बना रहे योजना
उन्होंने कहा कि हम चार केंद्रों की स्थापना कर रहे हैं। हम हैदराबाद (Hyderabad) में लगभग 20 करोड़ खुराक और इसके अलावा अन्य शहरों में 50 करोड़ खुराक के उत्पादन की योजना बना रहे हैं। उन्होंने संवाददताओं से कहा कि 2021 तक हमारे पास 760 करोड़ खुराक की क्षमता होगी। जैसा कि हम कहते हैं कि हमारे पास दो करोड़ खुराक हैं। उन्होंने कहा कि ‘कोवैक्सीन’ का वर्तमान में 24,000 स्वयंसेवकों के साथ तीसरे चरण का क्लिनिकल परीक्षण किया जा रहा है।   

भारत में बन रही हैं ये Corona Vaccine, जानें कौन है किस लेवल पर, देखें पूरी लिस्ट यहां....

हमारा पास है पूरा अनुभव
उन्होंने आंकड़ों की उपलब्धता संबंधी आरोपों पर कहा कि मुझे लगता है कि हम एकमात्र कंपनी हैं जिसके बारे में मैं  कह सकता हूं कि हमारे पास अच्छा खासा अनुभव है। कई लोग कहते हैं कि मैं अपने आंकड़ों को लेकर पारदर्शी नहीं हूं। मुझे लगता है कि लोगों में इंटरनेट पर पढ़ने के साथ ही हमारे लेखों को देखने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि भारतीय कंपनियों को कमतर मानकर निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी का कार्य फाइजर से कम नहीं है, जिसने हाल ही में कोरोना वायरस के लिए एक टीका बनाया है।   

ओडिशा में हुई BJP नेता की हत्या, मौके पर हुई मौत, कानून मंत्री सहित 13 के खिलाफ मामला दर्ज

जल्द तीसरे ट्रायल के आंकड़े करेंगे अपलोड
वह कहते हैं कि हमारे लेखों को इंटरनेशनल स्तर पर छापा गया है। वह कहते हैं कि उसे पढ़िए।  वह कहते हैं कि हमारा तीसरा ट्रायल चल रहा है। जिस पर हम बारीकी से काम कर रहे हैं। जल्द ही कुछ महीने में हम तीसरे फेज का डाटा भी उपलब्ध करा देंगे।  एला ने कहा है कि हमारे पास अभी 20 करोड़ खुराक है वैक्सीन की। हम चार सेंटर में 7 करोड़ खुराक क्षमता हांसिल करने का लक्ष्य रखकर चल रहे हैं। वह कहते हैं कि WHO ने लाइबेरिया और गिनी के लिए हमें अनुमति मिली है। वहां इबोला वैक्सीन ने कभी हयूमन ट्रायल  को पूरा नहीं किया है।    

 

 

ये भी पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.