Wednesday, May 12, 2021
-->
china india clash cyfirma cyber attack serum institute of india bharat biotech sobhnt

LAC पर हार के बाद अब चोरी पर उतरा चीन, सीरम और भारत बायोटेक पर कर रहा साइबर हमले

  • Updated on 3/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन भारत (China-India Clash) से सीमा पर जीत पाने में नाकामयाब होने के बाद अब खिसियाहट में भारत की वैक्सीन कंपनियों पर साइबर हमले कर रहा है। साइबर इंटेलिजेंस फर्म Cyfirma ने दावा किया है कि चीन के एक हैर्कस के ग्रुप ने भारतीय वैक्सीन कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक के कम्यूटरों को अपना निशाना बनाया है। ताकि वह वैक्सीन से जुड़ी जानकारी में सेंध लगा सके। 

बॉक्सर विजेंदर सिंह का प्रोफेशनल मुकाबला गोवा में कैसीनो जहाज की छत पर   

भारत डिप्लोमेसी में चीन से निकला आगे
बता दें दुनिया में कोरोना संक्रमण देने वाला चीन इस बात को लेकर चिढ़ा हुआ है कि भारत वैक्सीन डिप्लोमेसी में उससे आगे निकल गया है। भारत सरकार अपने पड़ोसी देशों को वैक्सीन दे रही है और अपने यहां भी तेजी से लोगों को टीके मिल पा रहे हैं। ऐसा इसलिए संभव हो पा रहा है क्योंकि दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट उसके पास है। इसके अलावा भारत में दुनिया में बिक्री होने वाला 60 फीसद वैक्सीन भारत में ही बनाया जाता है।  

कृषि कानूनों के खिलाफ गांवों में हर दिन अनशन करेंगे 5 किसान 

सीरम को बार-बार किया टारगेट
बता दें Cyfirma ने कहा है कि चीन का एक हैकर्स का ग्रुप APT10, जिसे स्टोन पांडा के नाम से भी जाना जाता है। वह इस समय भारत के सीरम इंस्टीट्यूट के आईटी सर्वर के साथ कुछ छेड़खानी करने की कोशिश कर रहा था। उसने सीरम के आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर में कुछ कमजोरियों की पहचान की है। ब्रिटेन फॉरेन इंटेलिजेंस M16 के टॉप ऑफिसर रह चुके और Cyfirma के सीईओ रितेश ने कहा है कि APT10 ने सीरम को बार-बार टारगेट किया है। बता दें यह कंपनी एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन का उत्पादन दुनिया भर के लिए कर रहा है। बता दें यह कंपनी नोवावैक्स का उत्पादन कर रही है।  
भीमा कोरेगांव प्रकरण: सुप्रीम कोर्ट करेगा नवलखा की जमानत अर्जी पर सुनवाई 

Cyfirma ने दी जानकारी
रितेश ने जानकारी दी है कि सीरम के कुछ पब्लिक सर्वर कमजोर वेब सर्वर पर काम कर रहे थे। जिसकी चीन के हैकर्स ने पहचान कर ली है।  जिन्हें भेदा जा सकता है। वह कहते हैं कि वह इस कमजोर एप्लीकेशन सिस्टम के बारे में बात कर रहे हैं। वह कहते हैं कि यह एक अलार्म है वह इसके बारे में बात कर रहे हैं। बता दें यह खबर ऐसे समय में आई है जब मुंबई में चीनी हैकर्स ने वहां कई जगह पर बिजली गुल कर दी थी। जिसको राज्य के ऊर्जा मंत्री ने भी स्वीकार किया था। हालांकि इसको लेकर केंद्र सरकार ने कहा था कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

 

 

comments

.
.
.
.
.