Friday, Feb 03, 2023
-->
chitransjali-75-a-platinum-panorama-to-go-on-the-journey-of-becoming-a-constitution

चित्रांजलि एट 75, ए प्लेटिनम पैनोरमा से जाने संविधान बनने का सफर

  • Updated on 8/27/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। भारत की स्वतंत्रता के 75 साल पूरे होने पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ पूरे देश में मनाया जा रहा है। इसी कडी में नेशनल फिल्म आर्काइव ऑफ इंडिया ने फिल्मों की एक विशेष आभाषी प्रदर्शनी ‘चित्रांजलि एट 75: ए प्लेटिनम पैनोरमा व संविधान का निर्माण नाम से ई-चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस प्रदर्शनी का शुभारंभ केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर व केंद्रीय पर्यटन तथा संस्कृत मंत्री जी. किशन रेड्डी द्वारा किया गया। इस मौके पर संस्कृति राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल व संस्कृति और विदेश राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी भी उपस्थित रहीं।
सर्वर ना चलने से राशनकार्डधारी हुए परेशान, कोटाधारकों पर उतारा गुस्सा

स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद से अब तक देश की यात्रा की कहानी
बता दें कि यह एक पेनोरमा प्रस्तुत करती है जिसमें स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद से अब तक देश की यात्रा की कहानी है। चित्रांजलि में विभिन्न भाषा की फिल्मों के 75 पोस्टरों और तस्वीरों के माध्यम से देशभक्ति के विभिन्न भावों को प्रस्तुत किया गया है जिसे तीन खंडों में बांटा गया है। पहला सिनेमा की आंख से देखा स्वतंत्रता संघर्ष, दूसरा सामाजिक सुधार का सिनेमा और तीसरा वीर सैनिको को सलाम।
राशन दुकान जाने में सक्षम नहीं हैं तो भरें फॉर्म, मदद करेगा विभाग

कई भाषाओं की देखने को मिलेगी देशभक्ति फिल्में
इसमें कुछ उल्लेखनीय फिल्में हैं जैसे असमिया की पियोली फुकुन, गुजराती की कडु मरकानी, कन्नड की कित्तूर चेन्नम्मा, हिंदी की हकीकत, बंगाली की सुभाष चंद्र, पंजाबी की शहीद ए आजम भगत सिंह, मलयालम की कालापानी, मराठी की लोकमान्य: एक युगपुरूष इत्यादि। बता दें कि इस आभासी प्रदर्शनी को साझा करने और डाउनलोड करने की आसान सुविधाओं के साथ उपयोगकर्ता के अनुकूल भी बनाया गया है।

comments

.
.
.
.
.