Tuesday, Oct 19, 2021
-->
congress-constituted-committee-to-celebrate-75th-anniversary-of-independence

आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने को मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में कांग्रेस ने कमेटी गठित की

  • Updated on 9/1/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में 11 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। कमेटी एक साल तक चलने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार करने और उनके आयोजन की योजना तैयार करेगी।

राहुल गांधी का दावा, देश की आर्थिक हालत 1991 से भी बदतर

देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। सरकारी तौर पर अगले एक साल तक देशभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाने हैं। इस बीच कांग्रेस ने अलग से एक कमेटी का गठन किया है। इसका प्रमुख पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को बनाया गया है। बुधवार को पार्टी की ओर से दी गई आधिकारिक जानकारी के मुताबिक कमेटी में मनमोहन सिंह के अलावा ए.के. एंटनी, मीरा कुमार, अंबिका सोनी, गुलाम नबी आजाद, मुकुल वासनिक, भूपिंदर हुड्डा, प्रमोद तिवारी, मुल्लापल्ली रामचंद्रन, के.आर. रमेश कुमार और सांसद प्रद्योत बोरदोलोई को शामिल किया गया है।

कमेटी में जी-23 में शामिल आजाद, हुड्डा और वासनिक भी

कांग्रेस के कथित असंतुष्ट नेताओं की जी-23 में शामिल गुलाम नबी आजाद और भूपिंद्र सिंह हुड्डा और मुकुल वासनिक को इस कमेटी में लिया जाना, उन्हें तरजीह देने के तौर पर देखा जा रहा है। सोनिया गांधी पिछली कई कमेटियों में जी-23 के नेताओं में से किसी न किसी को ले रही हैं। इस कमेटी में वासनिक को कन्वीनर का दायित्व सौंपा गया है। माना जा रहा है कि सोनिया एक तरह से जी-23 के नेताओं को यह भरोसा देने की कोशिश कर रही हैं कि उनके मन में किसी के प्रति कोई दुराग्रह नहीं है। 

जी-23 के नेताओं ने संगठन में चुनाव की उठाई थी मांग

दरअसल, एक साल पहले पार्टी के 23 वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस हाईकमान को चिट्ठी लिख कर संगठन के सभी पदों पर चुनाव कराने और अमूलचूल बदलाव की मांग उठाई थी। उनकी चिट्ठी को लेकर पार्टी में बड़ा बवाल मचा था। राहुल गांधी भी काफी नाराज हुए थे। उसके बाद से इन नेताओं को लगभग हाशिए पर ही डाल दिया गया था। लेकिन अब फिर से इन्हें पार्टी और संगठन में दायित्व दिया जाने लगा है।

 

comments

.
.
.
.
.