Friday, May 27, 2022
-->
congress played dalit victim card on ed''''s raid, bid- retaliatory action against dalit cm

ED की छापेमारी पर कांग्रेस का दलित विक्टिम कार्ड, दलित CM के खिलाफ प्रतिशोध की कार्रवाई बताया

  • Updated on 1/18/2022

नई दिल्ली/नेशनल ब्यूरो। पंजाब विधानसभा चुनाव के बीच मंगलवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) की पंजाब में कई स्थानों पर छापेमारी को लेकर कांग्रेस ने दलित विक्टिम कार्ड खेल दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए पार्टी ने देश के इकलौते दलित मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के खिलाफ प्रतिशोध की कार्रवाई करने का आरोप लगाया।

ED का बड़ा ऐक्शन, CM चन्नी के भतीजे समेत कई खनन कंपनियों के ठिकानों पर छापेमारी
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को यहां एक प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि मोदी सरकार और भाजपा प्रतिशोध की आग में धधक रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार किसानों तथा दलित-पिछड़ों से बदला ले रही है। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान 700 किसानों ने दम तोड़ दिया, लेकिन प्रधानमंत्री ने उनकी सुध नहीं ली। अब दलित और पिछड़ों से प्रतिशोध लिया जा रहा है। सुरजेवाला ने दावा किया कि जैसे-जैसे उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड में दलित और पिछड़े नकार रहे हैं और हार सुनिश्चित दिख रही है, वैसे ही भाजपा का इन वर्गों पर हमला बढ़ता जा रहा है। उन्होंने ईडी को भाजपा ‘इलेक्शन डिपार्टमेंट’ संज्ञा देते हुए आरोप लगाया कि देश के इकलौते दलित मुख्यमंत्री से बदला लेने के लिए प्रधानमंत्री और भाजपा ने ED को भेज दिया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी के परिवार के खिलाफ कोई आरोप नहीं है और प्राथमिकी में भी नाम नहीं है, लेकिन बचकाने और मनगढ़ंत आरोप मढ़े जा रहे हैं।

CM केजरीवाल ने अवैध रेत खनन को लेकर चन्नी पर साधा निशाना
कंग्रेस इस दलित कार्ड से पंजाब के साथ-साथ उत्तर प्रदेश तक संदेश पहुंचाने की रणनीति पर काम करती दिख रही है। पंजाब में करीब 34 फीसद दलित वोट है, वहीं उत्तर प्रदेश में 14 फीसद जाटव और 8 फीसद गैर जाटव मिलाकर 22 फीसद दलित वोट है। बसपा और कांशीराम-मायावती के उदय से पहले 1990 तक दलित वोट कांग्रेस के साथ था। आज कुल दलितों का 50 फीसद वोट बसपा के साथ है। बाकी दलित बंटे हुए हैं। उत्तर प्रदेश में 2014 से बदले सियासी समीकरण के तहत गैर जाटव दलित बड़ी संख्या में भाजपा के साथ जुड़ा है। 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा ने यूपी की 84 सुरक्षित सीटों में से 71 पर जीत इसी वोट के आधार पर जीती थी। कांग्रेस किसी भी तरह इस गैर जाटव दलित वोट बैंक में सेंधमारी की जुगत लगा रही है। पंजाब में दलित समुदाय के चरणजीत चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के पीछे भी उसकी यही रणनीति दिखती है।

AAP के मुफ्त बिजली के वादे को भुनाने में जुटे अखिलेश, सपा चलाएगी अभियान
कांग्रेस प्रवक्ता ने पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी के चुनाव लडऩे को लेकर दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल में नूराकुश्ती चल रही है। सुरजेवाला ने कहा कि जब प्रधानमंत्री का काफिला कुछ समय के लिए रुक जाता है, तो सबसे पहले केजरीवाल प्रधानमंत्री के बचाव में कूदे। ईडी का छापा पड़ा तो सबसे पहले ट्विट केजरीवाल ने किया है। उन्होंने कहा कि मोदी और केजरीवाल को चन्नी का मुख्यमंत्री बनना पच नहीं रहा है, इसलिए वो ‘पंजाब, पंजाबियों और पंजाबियत’ को बदनाम करने के लिए साजिश कर रहे हैं। कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश चौधरी ने कहा कि भाजपा भूल कर रही है कि यह चन्नी जी हैं, अमरिंदर सिंह नहीं हैं। चन्नी मजबूती से खड़े रहेंगे। कांग्रेस पार्टी चन्नी और पंजाब के साथ मजबूती से खड़ी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पंजाब में फिर से सरकार बनाने जा रही है, इसलिए ये लोग बौखला रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.