Wednesday, Oct 20, 2021
-->
controversy-escalated-in-kerala-congress-over-dcc-appointment-demand-for-venugopals-removal

जिला अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर केरल कांग्रेस में विवाद बढ़ा, वेणुगोपाल को हटाने की उठी मांग

  • Updated on 8/30/2021


नई दिल्ली/केरल/टीम डिजिटल। पंजाब, छत्तीसगढ़ कांग्रेस का बवाल अभी थमा भी नहीं कि केरल कांग्रेस में आपसी झगड़ा गहराता दिख रहा है। पार्टी के जिला अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर बढ़े विवाद में पूर्व विधायक ए. वी. गोपीनाथ ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया तो पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी और पूर्व नेता विपक्ष रमेश चेन्नीथला खुल कर विरोध कर रहे हैं। इस बीच केरल कांग्रेस के सचिव पी.एस. प्रशांत ने राहुल गांधी को लिखे एक पत्र में पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल को हटाने की मांग कर दी। हालांकि अनुशासनहीनता के आरोप में उन्हें पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया है।

चोडानकर के नेतृत्व में ही गोवा चुनाव लड़ेगी कांग्रेस, बने रहेंगे प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष

केरल कांग्रेस के जिला अध्यक्षों की सूची बीते हफ्ते ही जारी हुई है। इसके बाद राज्य कांग्रेस के नेताओं में काफी नाराजगी देखी जा रही है। हालांकि कांग्रेस समिति (केपीसीसी) के अध्यक्ष और सांसद के. सुधाकरन ने सोमवार को कहा कि जिला कांग्रेस समिति (डीसीसी) प्रमुखों की सूची के बारे में पार्टी के रुख को स्पष्ट कर दिया गया है तथा अधिक चर्चा के लिए इसे वापस नहीं लिया जाएगा। सुधाकरन ने कांग्रेस पार्टी में बदलाव देखने के लिए सब से छह महीने इंतजार करने को कहा। बताया गया कि 14 जिला अध्यक्षों के चयन ने पार्टी में दरार पैदा कर दी है और ओमन चांडी व रमेश चेन्नीथला जैसे पार्टी के कई वरिष्ठ नेता चयन के तरीके के खिलाफ खुलकर सामने आए हैं। 

सुधाकरन बोले, चांडी और चेन्नीथला की पार्टी को हमेशा जरूरत

मीडिया से बात करते हुए, सुधाकरन ने कहा कि अगर पार्टी रोजाना इसी मुद्दे पर चर्चा करती रही तो वह आगे नहीं बढ़ सकती है, इसलिए पार्टी की भलाई के लिए इस अध्याय को बंद करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि पार्टी को चांडी और चेन्नीथला की हमेशा जरूरत है और वे चाहते हैं कि वे इसमें सहयोग करें। इसके पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ओमन चांडी ने मीडिया को बताया कि डीसीसी प्रमुखों के चयन के संबंध में सुधाकरन और विधानसभा में विपक्ष के नेता वी. डी. सतीशन के साथ चर्चा पूरी नहीं हुई है। 

एवी गोपीनाथ ने दिया इस्तीफा, पीएस प्रशांत पार्टी से बर्खास्त 

वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक ए. वी. गोपीनाथ का पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि गोपीनाथ कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि वह उन्हें पार्टी में वापस लाने के लिए जरूरी कदम उठाएंगे। इस बीच केरल कांग्रेस के सचिव पी.एस. प्रशांत ने वायनाड़ सांसद और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को एक पत्र लिख कर के.सी. वेणुगोपाल को बर्खास्त करने की मांग की है। प्रशांत ने वेणुगोपाल पर भाजपा से सांठगांठ होने का आरोप लगाया है। इस पत्र के लिखने के कुछ देर बाद ही पार्टी ने प्रशांत को बर्खास्त कर दिया। केरल पीसीसी चीफ सुधाकरन ने कहा कि पार्टी हाईकमान पर गंभीर आरोप लगाने और चुनौती देने के चलते प्रशांत को बर्खास्त किया गया है।

 

comments

.
.
.
.
.