Friday, Feb 28, 2020
corona-fear-company-sticks-notice-corporates-returned-from-china-not-allowed

कोरोना का खौफ: सावधान, चीन से लौटे व्यापारियों का कंपनी में प्रवेश वर्जित है...

  • Updated on 2/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (korona virus) पूरी दुनिया में अपने जानलेवा पांव पसारता जा रहा है। दिल्ली और एनसीआर (delhi ncr) इलाकों में भी इसका खौफ लगातार बढ़ता जा रहा है। दिल्ली से सटे गुड़गांव (gurganv) में इसके खौफ का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि निजी कंपनियों ने कर्मचारियों के सुरक्षा हितों को देखते कंपनी गेट के बाहर नोटिस चस्पा कर दिया है। जिसमें लिखा है ‘स्टाप डू नॉट इंटर इन बिल्डिंग’।

सावधान, चीन से लौटे कारोबारियों का प्रवेश वर्जित
बृहस्पतिवार को गुड़गांव की निजी कंपनी ने अपने गेट के बाहर नोटिस चस्पा कर हाल में चीन यात्रा से आए लोगों को इमारत के अंदर जाने पर रोक लगा दी है। कंपनी अधिकारियों का कहना है कि नोटिस का उद्देश्य अन्य कर्मचारियों के स्वास्थ्य हितों को ध्यान रखना है।

गुरुग्राम भीड़ हमला मामले में आया नया मोड़, पीड़ित ने आत्महत्या की चेतावनी के बाद उठाया ये कदम

चीन से लौटे कर्मचारियों की खोजबीन शुरु
कंपनी प्रबंधन की ओर से अपने ऐसे कर्मचारियों की यात्रा का पता भी लगाया जा रहा है जो व्यवसाय या डीलिंग गतिविधियों को लेकर दूसरे देशों की यात्रा पर है। हालांकि जनवरी माह में ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से इसे लेकर एडवाइजरी जारी की जा चुकी है। बावजूद इसके कोरोना के बढ़ते खौफ का असर अब उद्योगों से लेकर बाजारों व अन्य जगहों पर पड़ने लगा है। कंपनी प्रबंधन ने नाम नहीं छापने के आधार पर बताया कि कोरोना जागरूकता को लेकर कंपनी प्रबंधन की ओर से व्यापक प्रयास किए जा रहे हैं।

चुनावी माहौल में विफल हरियाणा पुलिस, सरेआम अस्पताल के बाहर चलीं गोलियां, दो लोग घायल

चीन यात्रा को लेकर डीलिंग प्रभावित
इस बारे में IMT मानेसर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष पवन यादव ने बताया कि गुडग़ांव व मानेसर में सैकड़ों की संख्या में छोटे बड़े उद्योग है। जहां से रोजाना करोड़ो रूपए का टर्नओवर होता है। लेकिन चीन में पैदा हुए कोरोना वायरस के संकट के कारण यहां के उद्योगों पर भी गहरा असर पड़ रहा है।

चीन की कारोबारी यात्रा रद्द होनी शुरु
उद्योग जगत के सूत्र दावा करते हैं कि संक्रमण के डर से उद्यमियों की चीन यात्रा रद्द हो रही है। जिससे कच्चे व तैयार माल की डीलिंग नहीं हो पा रही है। सैकड़ों ऐसी कंपनियां है जहां रोजाना चीन व भारत के बीच कच्चा व तैयार माल भेजा जाता है। तेजी से फैली इस बीमारी के कारण इसकी रप्तार थम गई है।

गरमाया गुरुग्राम मारपीट का मामला, पीड़ित पक्ष ने दी परिवार सहित आत्महत्या की धमकी

सफदरजंग के चिकित्सकों ने संभाला मोर्चा
स्वास्थ्य विभाग ने हाल में चीन यात्रा से आए संदिगधों की सुविधा के लिए अपने विभाग की एक एंबुलेंस भी भेजी है। इसके अलावा सुविधा के लिए सफदरजंग अस्पताल के 5 चिकित्सक भी तैनात किए गए है।

कोरोना का खौफ : कंपनियों ने गेट के बाहर लगाया नोटिस

  •  आईएमटी में कुल उद्योग                       2200
  •  आईएमटी में कार्यरत कुल कर्मचारी        2 से 3 लाख
  •  सेक्टर-37 में स्थित कुल उद्योग              1100 से अधिक
  •  सेक्टर-37 में कार्यरत कुल कर्मचारी       1 लाख 20 हजार
  •  पूरे गुडग़ांव में कुल उद्योग                    10 हजार के करीब
  •  कार्यरत कुल कर्मचारियों की संख्या        5 लाख से ज्यादा
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.