Thursday, Jul 09, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 9

Last Updated: Thu Jul 09 2020 10:29 AM

corona virus

Total Cases

768,424

Recovered

476,554

Deaths

21,144

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA223,724
  • TAMIL NADU114,978
  • NEW DELHI104,864
  • GUJARAT38,419
  • UTTAR PRADESH31,156
  • TELANGANA25,733
  • KARNATAKA25,317
  • WEST BENGAL22,987
  • ANDHRA PRADESH22,259
  • RAJASTHAN21,577
  • HARYANA17,504
  • MADHYA PRADESH15,284
  • BIHAR13,274
  • ASSAM11,737
  • ODISHA10,624
  • JAMMU & KASHMIR8,675
  • PUNJAB6,491
  • KERALA5,623
  • CHHATTISGARH3,305
  • UTTARAKHAND3,161
  • JHARKHAND2,854
  • GOA1,813
  • TRIPURA1,580
  • MANIPUR1,390
  • HIMACHAL PRADESH1,077
  • PUDUCHERRY1,011
  • LADAKH1,005
  • NAGALAND625
  • CHANDIGARH490
  • DADRA AND NAGAR HAVELI373
  • ARUNACHAL PRADESH270
  • DAMAN AND DIU207
  • MIZORAM197
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS141
  • SIKKIM125
  • MEGHALAYA88
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
corona impacts now i canot bear financial burden i going forever cab driver rajveer singh rkdsnt

कोरोना कहर : कर्ज में डूबे कैब ड्राइवर ने उठाया घातक कदम, परिवार परेशान

  • Updated on 6/28/2020

गाजियाबाद/ब्यूरो। मैं अब ये बोझ नहीं उठा सकता, इसलिए आप सभी से हमेशा के लिए दूर जा रहा हूं। मुझे ढंूढने की कोशिश मत करना। आर्थिक तंगी से परेशान राजवीर सिंह ने अपनी डायरी के पन्नों में अपना दर्द बयान किया और गुम हो गया। परेशान घर वाले अब पुलिस के चक्कर काट रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि पुलिस मामले में ढिलाई बरत रही हैं। परिजनों को अनहोनी का आशंका का डर है। 

कांग्रेस ने पूछा - यूपी में अगर रोजगार है तो लोग आत्महत्या क्यों करने को मजबूर हैं?

पैसों की तंगी से परेशान युवक हुआ लापता 
घटना कौंशाबी थानाक्षेत्र के वैशाली सेक्टर-2 की है। अलीगढ़ निवासी राजवीर सिंह यहां परिवार के साथ रहते हैं। लॉकडाउन की वजह से परिवार गांव में है। वह बीते दिनों ही गांव से लौटे थे। राजवीर सिंह के भाई सौरभ बघेल ने बताया कि 24 जून को दोपहर के बाद से ही उनके भाई लापता हैं। दोपहर करीब 1 बजे से बाद से उनका फोन बंद आ रहा है। उन्होंने गुमशुदगी की शिकायत कौंशाबी थाने में दर्ज कराई है। 

उद्धव ठाकरे का ऐलान- पूरे महाराष्ट्र में चलेगा ‘चेज द वायरस’ अभियान

डायरी में बयां किया दर्द
राजकुमार ने घर-परिवार को छोडऩे से पहले कुछ पन्नों पर अपनी पीड़ा को लिखा। लॉक डाउन के कारण काम-धंधा चौपट होने और आय का साधन न मिलने से वह काफी निराश था। राजकुमार ने परिवार के प्रति अपनी प्रेम भावना को प्रकट किया है। हमेशा सहयोग करने के लिए भाई का आभार जताया है। भाई से भविष्य में भी परिवार का ख्याल रखने की अपील की है। राजकुमार ने पत्र में लिखा है कि भरसक कोशिश करने के बावजूद किस्मत ने मेरा साथ नहीं दिया। वह सच्चाई को हमेशा परिवार से छिपाता रहा। सिर पर आए बोझ को उठाने में वह अब सक्षम नहीं है। राजकुमार ने माता-पिता, पत्नी, बच्चों व भाई को संबोधित पत्र में खुद को ना ढूंढऩे की अपील की है। पत्र में भाई से अपील की है कि घर में गाड़ी को न रखें। चाहे तो गाड़ी लौटा दें अथवा किसी को बेच दें।

प्रवासी रोजगार योजना का हिस्सा नहीं बन सकता पश्चिम बंगाल : सीतारमण

6 महीने पहले खरीदी थी कार
सौरभ ने बताया कि राजवीर पेशे से कैब चालक थे। 6 महीनें पहले ही उन्होंने स्विफ्ट डिजायर कार खरीदी थी। हालांकि वह लगातार उसकी किस्त अदा कर रहे थे। मगर लॉकडाउन के चलते वह आर्थिक रूप से काफी परेशान थे। 

माकपा नेता बोले- जम्मू-कश्मीर में खनन ठेके सिर्फ स्थानीय लोगों को ही मिलने चाहिए

पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप
पीड़ित सौरभ बघेल ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि पुलिस उनके भाई को ढूंढने के लिए गंभीर प्रयास नहीं कर रही है। जब पुलिस को शिकायत को मिली, उसके बाद भी फोन की लोकेशन खोजने की कोशिश देर से हुई। इसके अलावा उनका भाई पिछले दिनों से डायरी लिख रहा था। यह डायरी भी उन्होंने खुद पुलिस को जाकर दी है।     

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.