Sunday, Jan 24, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 24

Last Updated: Sun Jan 24 2021 08:53 PM

corona virus

Total Cases

10,660,477

Recovered

10,321,005

Deaths

153,457

  • INDIA10,660,477
  • MAHARASTRA2,009,106
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA935,478
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU834,740
  • NEW DELHI633,924
  • UTTAR PRADESH598,710
  • WEST BENGAL568,103
  • ODISHA334,150
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN316,485
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH296,326
  • TELANGANA293,056
  • HARYANA267,075
  • BIHAR259,766
  • GUJARAT258,687
  • MADHYA PRADESH253,114
  • ASSAM216,976
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB171,733
  • JAMMU & KASHMIR123,946
  • UTTARAKHAND95,586
  • HIMACHAL PRADESH57,189
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM6,068
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,993
  • MIZORAM4,351
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,377
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
corona saved the kamalnath government assembly adjourned till 26 march

एमपी की राजनीति में कोरोना वायरस की एंट्री, सियासी ड्रामा अब लंबा खिंचा

  • Updated on 3/16/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दुनिया में बेशक कोरोना वायरस कोविड 19 (covid 19) मौत का भयानक तांडव मचा रहा हो, मगर मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार (kamalnath government) के लिए ये वायरस जीवन दायक साबित हुआ है। फ्लोर टेस्ट के दिन कुछ ही मिनट पहले विधान सभा अध्यक्ष लालजी टंडन (lalji tandon) ने कोरोना के वायरस से खौफ को देखते हुए फिलहाल 26 मार्च तक विधानसभा को स्थगित कर दिया है।

MP: सिंधिया गुट के मंत्री- विधायक थोड़ी देर में पहुंचेंगे भोपाल एयरपोर्ट, धारा 144 लागू

रात भर से जारी हाई वोल्टेड सियासी ड्रामा फ्लोर टेस्ट से पहले ही फुस्स 
सोमवार को मध्य प्रदेश का हाई वोल्टेज सियासी ड्रामा आखिर कार एक नाटकीय अंदाज़ में फुस्स हो गया। फ्लोर टेस्ट के कुछ ही मिनट पहले विधानसभा अध्यक्ष लालजी टंडन ने कोरोना के खतरे को देखते हुए विधानसभा को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया। गौरतलब है कि इससे पहले भी बागी विधायकों से किसी तरह बात करने की कोशिशों में लगे सत्ता पक्ष ने कोरोना टेस्ट के नाम पर बागी विधायकों की स्क्रीनिंग का प्रस्ताव दिया था। मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने कहा था कि, 'राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा की गई कि हमारे विधायक जो जयपुर से आए हैं, उनका चिकित्सकीय परीक्षण किया जाना चाहिए। साथ ही हरियाणा और बेंगलुरु में रहने वाले विधायकों का भी चिकित्सकीय परीक्षण किया जाना चाहिए.' पीसी शर्मा ने कहा कि भोपाल लौटे सभी विधायकों का कोरोना वायरस का टेस्ट होगा।

कोरोना वायरस की जांच के बिना मध्य प्रदेश में दाखिल नहीं हो सकेंगे विधायक

काम नहीं आई स्क्रीनिंग के नाम पर विधायकों से मुलाकात
मगर जाहिर है, विधायकों के स्क्रीनिंग के नाम पर उनसे बातचीत किसी अंजाम तक नहीं पहुंच सकी। फ्लोर टेस्ट में कमलनाथ सरकार के गिर जाने की पूरी-पूरी संभावना थी। लिहाजा कमलनाथ सरकार को बचाने के लिए एक बार फिर कोरोना वायरस की ढाल को ही आगे बढ़ा दिया गया। इस दफा विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा सदस्यों और पूरे मध्य प्रदेश के प्रतिनिधियों की सेहत का हवाला देते हुए कोरोना वायरस से बचने के लिए 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया है।

मध्यप्रदेश: पूर्व CM शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल लालजी टंडन से की मुलाकात

भाजपा नेताओं ने की हाथ उठाकर मतदान की मांग
गौरतलब है कि मत विभाजन के लिए पहले बटन दबाकर ही मददान की मांग की गई थी। मगर भाजपा नेताओं ने बताया कि विधानसभा का इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग सिस्टम काम ही नहीं कर रहा है, लिहाजा राज्यपाल लालजी टंडन ने आदेश दिया कि मतदान सिर्फ हाथ उठाने कर ही कराया जाएगा। मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास सुबह ही राज्यपाल के हाथ उठाकर मतदान करवाने के निर्देश पहुंच गये थे। 

मध्यप्रदेश: फ्लोर टेस्ट से पहले कमलनाथ ने चली चाल, कराएंगे सभी विधायकों की कोरोना जांच

सोमवार को फ्लोर टेस्ट पर पहले से ही शक था
पूरे देश की निगाहें सोमवार को मध्य प्रदेश की विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट पर लगी हुई थी। मगर राज्यपाल शायद पहले से ही इस कदम के बारे में सोच चुके थे। यहां तक कि पूरे देश की निगाहें सोमवार की सुबह मध्य प्रदेश की विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट पर लगी हुई थी। मगर विधानसभा की कार्यसूची में आज फ्लोर टेस्ट का जिक्र तक नहीं था। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गोपाल भार्गव  कांग्रेस पर प्लोर टेस्ट से भागने का आरोप लगा चुके थे 

जयपुर से भोपाल पहुंचे MP कांग्रेस विधायक, CM कमलनाथ ने बुलाई कैबिनेट की बैठक

कांग्रेस फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार, मगर कहां हैं हमारे 16 विधायक
कांग्रेस प्रवक्ता और मंत्री पीसी शर्मा ने कांग्रेस के 16 विधायकों के गायब होने के कारण फ्लोर टेस्ट पर सवाल उठाए थे।सिंधिया गुट के 16 बागी विधायकों ने स्पीकर को अपने इस्तीफे भेजे थे। इन विधायकों ने व्यक्तिगत तौर पर मिलने में असमर्थता जाहिर करते हुए छह विधायकों जो सरकार में मंत्री भी हैं उनके इस्तीफे स्वीकार किए जा चुके हैं तो इन सबके इस्तीफे भी स्वीकार किए जाने चाहिए।

मध्यप्रदेश: राज्यपाल ने कमलनाथ सरकार को दिए निर्देश, विधानसभा में कल होगा फ्लोर टेस्ट

सूबे में कानून व्यवस्था बेहद खराब, व्यक्तिगत तौर पर मिलना मुमकिन नहीं
बागी विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति (Narmada Prasad Prajapati) को खत लिखकर लगभग एक जैसी इबारत में कहा है कि 'प्रदेश में खराब कानून व्यवस्था और अनिश्चितता के वातावरण में स्वयं प्रत्यक्ष उपस्थित होकर आपसे मिलना संभव नहीं है। लिहाजा जिस तरह कल 14 मार्च 2020 को आपने छह विधायकों के त्याग पत्र स्वीकृत किए उसी प्रकार मेरा भी त्याग पत्र स्वीकृत करने की कृपा करें।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.