Friday, May 07, 2021
-->
Coronavirus Farmer protest super spreaders Delhi sobhnt

दिल्ली-हरियाणा की सीमा पर बैठे किसान बन सकते हैं कोरोना के सुपर स्प्रेडर

  • Updated on 4/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में एक बार फिर से तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में कुछ लोगों को कहना है कि दिल्ली-एनसीआर की सभी सीमाओं पर बैठे किसान इसके लिए सुपर स्प्रेडर साबित हो सकते हैं। एक किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों का यह आंदोलन 130 वे दिन में प्रवेश कर गया है। और किसान अपनी मांगों को लेकर अभी तक अपनी सड़कों पर बैठे हुए हैं। 

गुजरात में टारगेट पूरा करने के लिए भेजे जाते थे खाली ट्यूब, ताकि रिपोर्ट न आए पॉजिटिव 

आंदोलनकारी नहीं लगवा रहे कोरोना का टीका 
बता दें दूसरी तरफ से यह भी खबर आ रही है कि कुंडली बॉर्डर के आंदोलन स्थल को छोड़कर कहीं दूसरे स्थान पर आंदोलनकारी कोरोना का टीका भी नहीं लगवा रहे हैं। जो किसान अलग-अलग स्थानों पर बैठे हैं उनमें से अधिकांश की उम्र 45 वर्ष से अधिक है। ऐसे में  इन लोगों को कोरोना का ज्यादा खतरा है। लेकिन इन लोगों ने कोरोना का टीका लगवाने से साफ मना कर दिया है।  

AIIMS के निदेशक गुलेरिया ने कोरोना को लेकर जताई चिंता, बोले- एक माह में दो बार हो रहा म्यूटेशन

अभी तक 490 लोगों ने कराया वैक्सीनेशन 
बता दें आंदोलन स्थल के पास लगाए गए वैक्सीनेशन कैंपों में अभी तक सिर्फ 490 लोगों ने ही वैक्सीनेशन कराया है। आंदोलनकारी कोरोना की तरफ उदासीनता बरत रहे हैं। जिसकी वजह से क्षेत्र में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अभी तक आंदोलन कर रहे ज्यादा लोगों ने कोरोना का टीका नहीं लगवाया है।   

CoronaVirus: टूटा संक्रमितों की संख्या का रिकॉर्ड! एक दिन में सामने आए 1 लाख से अधिक मामले 

बड़ी संख्या में मौजूद हैं बुजुर्ग
बता दें जिन जगहों पर प्रदर्शनकारी किसान आंदोलन कर रहे हैं। वहां प्रशासन अपील भी कर रहा है कि लोग कोरोना का टीका लगवाने के लिए आगे आएं। ऐसे में वहां पर 4 से 5 हजार जैसी बड़ी संख्या में लोग उपस्थित है मगर टीका लगवाने आने वालों की संख्या बहुत कम है। जबकि जो लोग वहां मौजूद है उनमें बड़ी संख्या में लोगों की उम्र 60 या उससे अधिक है। 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.