Tuesday, Aug 16, 2022
-->
coronavirus second trial china sobhnt

दुनिया में सबसे सस्ती है भारत की कोरोना वैक्सीन, चीन की सबसे महंगी

  • Updated on 3/3/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना महामारी से निपटने के लिए पूरी दुनिया अब कोरोना वैक्सीन की तरफ देख रही है। जिन देशों ने कोरोना वैक्सीन बना ली है उनमें भारत भी शामिल हैं। सभी देश इस समय चाहते हैं कि वह अपने सभी नागरिकों को कोरोना की वैक्सीन लगा दें मगर इसके लिए कोरोना की वैक्सीन के दाम पर भी निर्भर करेगा। अभी तक भारत को इसमें सफलता मिली है मगर इस बार  दुनिया को हर सामान सस्ता देने वाला चीन पीछे रह गया है।  उसकी वैक्सीन की तुलना भारत से की जाए तो उसके रेट भारत से 9 गुना ज्यादा है।  

रसोई गैस, पेट्रोल की बढ़ते दामों को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना 

चीन की दुनिया में सबसे महंगी वैक्सीन
बता दें कीमत के हिसाब से भारत की वैक्सीन दुनिया में सबसे सस्ती और चीन की वैक्सीन दुनिया में सबसे महंगी है। इसके अलावा भारत सरकार सबसे कम समय में वैक्सीन बनाने वाली हैं। बता दें दुनिया में आर्थिक रुप से सम्पन्न सभी देश भी वैक्सीन के लिए भारत की तरफ देख रहे हैं। भारत में इस समय एक कोरोना वैक्सीन की डोज की कीमत 250 रुपए रखी गई है। जिसमे 150 रुपए वैक्सीन की कीमत 100 रुपए सर्विस चार्ज है। भारत के नागरिक किसी भी प्राइवेट अस्पताल में जाकर इसे लगवा सकते हैं। वहीं सरकारी अस्पतालों में यह मुफ्त में लगाई जा रही है।  

जांच एजेंसियों के कार्यालयों में सीसीटीवी मामला : सुप्रीम कोर्ट ने जताई नाराजगी 

9 देशों ने बना ली कोरोना वैक्सीन
बता दें दुनिया के 9 देशों ने फिलहाल कोरोना की वैक्सीन बना ली है। इन देशों की वैक्सीन सबसे सस्ती है और इन सब देशों में सबसे महंगी वैक्सीन चीन की है। जबकि चीन को वैक्सीन बनाने के लिए पूरा समय मिला था। उसके बाद भी उसकी वैक्सीन अन्य देशों की तुलना में महंगी है। बता दें चीन की वैक्सीन का नाम CoronaVac है। जिसे चीन की कंपनी साइनोवैक ने बनाया है। बता दें अमेरिकी वैक्सीन की प्रति डोज की कीमत 1400 रुपए से अधिक है। जबकि यूरोपियन यूनियन की वैक्सीन की प्रतिडोज कीमत 1300 रुपए है।  इसके अलावा रुस की कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-V की कीमत प्रति डोज 730 रुपए हैं। साउथ अफ्रीका में कोविशील्ड की कीमत 390 रुपए हैं। 

किसान नेताओं ने अब भाजपा को हराने का किया आह्वान, चुनावी राज्यों में डालेंगे डेरा 

1 मार्च को दूसरे चरण की शुरुआत हुई
गौरतलब है कि कोरोना टीकाकरण के दूसरे चरण की शुरुआत 1 मार्च को शुरु हो गई थी। सरकार ने इस बार 45 साल से अधिक की गंभीर बीमारी वाले लोगों को भी कोरोना वैक्सीन का टीका लगवा सकते हैं। इसके अलावा सरकार ने 60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए भी कोरोना वैक्सीन को लागू कर दिया गया था।    

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.