Monday, Oct 25, 2021
-->
delhi cold manali weather updates fog rain and snowfall alert sobhnt

दिल्ली में अगले 4 दिन में कंपाएगी शीतलहर, मनाली में मॉस्को से ज्यादा सर्दी

  • Updated on 12/29/2020

​​​​​नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आने वाले समय में जल्द ही दिल्ली (Delhi) पर जमा देने वाली ठंड का कहर टूट सकता है, मौसम वैज्ञानिकों को वेस्टर्न डिस्टर्बेंस से मिल रहे संकेतों ने कुदरत के बड़े खतरे का सायरन बजा दिया है। हिमालय से मैदानी इलाकों की ओर ठंडी हवाएं चलने के कारण दिल्ली के हिस्सों में अगले 4 दिन शीतलहर चलने का पूर्वानुमान है।इसके अलावा मनाली में भी इस समय मॉस्को से ज्यादा सर्दी पड़ रही है। बता दें शिमला में -4 डिग्री का तापमान क्या मैसेज दे रहा है। 

देश की पहली स्वदेशी न्यूमोकोकल वैक्सीन 'न्यूमोसिल' आई सामने, हर्षवर्धन ने की पेश

पहाड़ों पर हो रही भारी बर्फबारी
दो दिन बाद आधे हिंदुस्तान (Hindustan) को जमा देने वाली जनवरी आने वाली है। पहाड़ों पर भारी बर्फबारी हो रही है तो मैदानी इलाकों में शीतलहर का शिकंजा और कसने वाला है। अगले 72 घंटे में दिल्ली की तरफ कुदरत का कोल्ड कहर बढ़ रहा है। इसका असर  उत्तर भारत के साथ दिल्ली के आस पास के इलाकों में भी देखा जा रहा है। इससे फलों को खेती को फायदा होगा। मगर इससे दूसरी फसलों को काफी नुकसान पहुंच सकता है।   

Delhi Corona Bulletin: काबू में कोरोना, 24 घंटे में 600 से कम केस

उत्तर भारत में पडेगी जोरदार सर्दी 
बता दें आईएमडी के क्षेत्रीय स्टेशन ने अनुमान बताया है कि अगले कुछ दिनों में उत्तर भारत में जबरजस्त सर्दी पड़ने वाली है। जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 'छिटपुट से लेकर अच्छी खासी' बर्फबारी हुई है। उन्होंने बताया कि पश्चिमी हिमालय से चलने वाली ठंडी तथा शुष्क उत्तरी/उत्तरी पश्चिमी हवाओं के कारण उत्तर भारत में तापमान में 3 से 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ सकती है। 

जितेंद्र सिंह बोले- चुनिंदा सरकारी भर्तियों के लिए ऑनलाइन एग्जाम न्यू ईयर 2021 से

पूरी पहाड़ी सफेद चादर में लिपट गई
बता दें हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में जमकर बर्फवारी हो रही है। पूरी पहाड़ी सफेद चादर में लिपट गई, हर तरफ बर्फ ही बर्फ है और यहां सैनाली प्रचंड सर्दी में न्यू ईयर सैलिब्रेट करने पहुंचे हैं। बर्फबारी से स्थानीय लोग खुश हैं क्योंकि एक तरफ फलों की खेती को फायदा होगा वहीं दूसरी ओर पर्यटकों के आने से उनके रोजगार में बढ़ोत्तरी होगी। 

किसान आंदोलन: किसान संगठनों से कल होगी बातचीत, MSP पर नया फार्मूला पेश करेगी सरकार


शीतलहर जल्द आने की उम्मीद
28 से 30 दिसंबर के दौरान उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तरी राजस्थान में कुछ स्थानों पर "शीत लहर" से "गंभीर शीत लहर" की स्थिति होने की संभावना है

मैदानी इलाकों में शीत लहर तब होती है जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे होता है और / या लगातार दो दिनों तक मौसम के सामान्य से 4.5 डिग्री कम होता है। मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस से कम होने पर शीत लहर भी घोषित की जाती है। एक ठंडा दिन और शीत लहर का एक साथ साक्षी होने का मतलब है कि दिन और रात के तापमान के बीच का अंतर सामान्य से कम था।

 

ये भी पढ़ें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.