Friday, Feb 26, 2021
-->
delhi farmer protest rakesh tikait tractor rally sobhnt

किसान हिंसाः राकेश टिकैत का लाठी-डंडे का वीडियो वायरल, अब दे रहे सफाई

  • Updated on 1/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में किसान प्रदर्शन (Farmer protest) के नाम पर उपद्रव करने वाले किसानों के बचाव में अब किसान नेता उतर आए हैं, उन्होंने अपने बयान में कहा है कि जो किसान ट्रैक्टर चला रहे थे। वह अनपढ़ थे और वह गलती से दिल्ली के अंदर घुस गए। वहीं दूसरी तरफ किसानों के नेता राकेश टिकैत का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह किसानों की परेड में जाने से पहले  कहते दिख रहे हैं कि लाठी- डंडे साथ लेते आइयो, और कह रहे हैं कि अब जमीन भी न बचेगी,     

Vaccine देने में सबसे आगे भारत, 9 देशों को भेज चुका है 60 लाख खुराकें 

 

क्या बोले राकेश टिकैत
बता दें किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एक वायरल वीडियो में कहा था कि सरकार मान नहीं रही, ज्यादा कहनी पड़ रही है। अपना ले अइयो झंडा-झुंडा भी लागाना, लाठी-गोटी भी साथ रखियो अपनी। झंडा लगाने के लिए आओ, समझ जइयो सारी बात। ठीक है? झंडा, लगेगा तिरंगा भी झंडा और ऐसा भी लगा लियो उसपे। और आ जाओ बस अब, बहुत हो लिया। आ जाओ जमीन बचाने के लिए, आ जाओ अपनी जमीन नहीं बच रही।

Budget 2021: बजट में गोल्ड पर GST और इंपोर्ट ड्यूटी में की जाए कटौती, सराफा उद्योग ने भेजे सुझाव

हमने डंडा लान
बता दें बाद में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि हमने उन्हें झंडे और डण्डे लाने को कहा था। वह सफाई देते हुए कहते हैं कि आप लोग बिना डंडा लिए एक भी झंडा दिखा दें तो मैं अपनी गलती मान लूं, वह कहते हैं कि कुछ लोग ट्रैक्टर पर अनपढ़ थे। वह गलती से रास्ता भूल गए और दिल्ली के अंदर घुस गए और लालकिले पर पहुंच गए। 

300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल
दिल्ली में मंगलवार को ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने परेड निरस्त कर इसमें हिस्सा लेने वाले सभी लोगों से अपील की कि वे तत्काल संबंधित प्रदर्शन स्थलों पर लौट जाएं। दिल्ली के कई हिस्सों में ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के संबंध में दिल्ली पुलिस 22 प्राथमिकियां दर्ज कर चुकी है। इस दौरान 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए। किसान मोर्चा ने ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा करने वाले लोगों से खुद को अलग कर लिया और आरोप लगाया था कि कुछ 'असमाजिक तत्व' इस प्रदर्शन में घुस आए वरना प्रदर्शन शांतिपूर्ण ही था।

कृषक संगठनों की केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के पक्ष में मंगलवार को हजारों की संख्या में किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाली थी। इस दौरान कई जगह प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के अवरोधकों को तोड़ दिया और पुलिस के साथ झड़प की, वाहनों में तोड़ फोड़ की और लाल किले पर एक धार्मिक झंडा भी लगा दिया था। 

  
 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.