Wednesday, May 12, 2021
-->
delhi ghaziabad farmers protest border road open sobhnt

गाजीपुर बॉर्डर से अब जा सकेेंगी गाड़ियां, खोला गया रास्ता

  • Updated on 3/15/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) से गाजियाबाद (Ghaziabad) जाने वाले यातायात के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग-24 को सोमवार को पुन: खोल दिया गया। पुलिस ने बताया कि वाहनों के लिए यह रास्ता 26 जनवरी से बंद था। हालांकि, पुलिस ने स्पष्ट किया है कि गाजियाबाद से दिल्ली आने वालों के लिए यह रास्ता बंद रहेगा। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गाजीपुर बॉर्डर पर कानून और व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए और जनता की सुविधा को संज्ञान में लेते हुए दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-24 को वाहनों के लिए खोल दिया गया है। यह कदम संबंधित जिले की पुलिस से परामर्श करने के बाद उठाया गया।      

NIA ने की बड़ी कार्रवाई, दिल्ली, केरल और कर्नाटक में की छापेमारी

किसान आंदोलन की वजह से बंद थे हाइवे
उन्होंने बताया कि 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में हुई हिंसा के बाद से यह हिस्सा बंद था। इस रास्ते को कुछ समय के लिए दो मार्च को खोला गया था। पुलिस के मुताबिक, किसान आंदोलन की वजह से टिकरी और सिंघू बॉर्डर बंद रहेंगे। उल्लेखनीय है कि केंद्र के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य की गांरटी की मांग को लेकर हजारों की संख्या में किसान दिल्ली के सीमा बिंदुओं- सिंघू, टिकरी और गाजीपुर- पर करीब तीन महीने से डेरा डाले हुए हैं।

ममता बनर्जी के चोटिल होने के मामले में डीएम-एसपी पर भी गिरी गाज, सुरक्षा निदेशक निलंबित 

बड़े घरानों की दया पर निर्भर
अधिकतर किसान पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हैं। किसानों को आशंका है कि नए कानून लागू होने के बाद  न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली को खत्म करने का रास्ता साफ होगा और वे बड़े उद्योग घरानों की ‘दया’ पर निर्भर हो जाएंगे। 

10 दौर की बातचीत हुई फेल
बता दें केंद्र सरकार के साथ 10 दौर की बातचीत होने के बाद भी किसानों और सरकार के बीच कोई सहमति नहीं बनी है। किसानों का आरोप है कि केंद्र सरकार उद्योगपतियों पर दया दिखा रही है। बता दें किसान पहले भी कई भारत बंद बुला चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर से किसानों ने सरकार को अपनी ताकत दिखाने के लिए 26 मार्च को भारत बंद बुलाया है।  

देश में एक बार फि‍र बढ़ा कोरोना का कहर, कई लॉकडाउन तो कही पूरा इलाका हुआ सील

संयुक्त किसान मोर्चा कर रहा है नेतृत्व
गौरतलब है कि देश के कई छोटे- बड़े किसान संगठन केंद्र सरकार के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले एक साथ प्रदर्शन कर रहे हैं। यह किसान आंदोलन उस समय पूरी दुनिया के लिए चर्चा का विषय बन गया था। जब किसानों के एक समूह ने लाल किले पर जाकर एक विशेष धर्म का झण्डा फहरा दिया था। उसके बाद सरकार ने कई किसान नेताओं को गिरफ्तार भी किया था। इसके अलावा इस किसान आंदोलन को दुनियाभर का उस समय समर्थन भी मिला था जब अमेरिकी पॉप सिंगर रिहाना और अंतराष्ट्रीय पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने इसे लेकर ट्वीट किया था।

 

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.